भारतीय सेना ने कहा, पाक सैनिक सफेद झंडा लेकर एलओसी पर आएं और बैट आतंकियों के शव ले जाएं

रविवार, 4 अगस्त 2019 (10:23 IST)
नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को शनिवार को उस समय बड़ी कामयाबी हाथ लगी जब भारतीय सेना ने पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) की तरफ से की जा रही घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया। भारत ने पाकिस्तान के सामने प्रस्ताव रखा है कि वे सफेद झंडे के साथ आएं और घुसपैठियों के शव ले जाएं। हालांकि भारत के प्रस्ताव पर पाकिस्तान ने कोई जवाब नहीं दिया है।
 
भारतीय सेना ने इस कार्रवाई में 5 से 7 घुसपैठिए मार गिराए। नियंत्रण रेखा पर केरन सेक्टर में मारे गए घुसपैठियों में पाकिस्तानी सेना के जवान और आतंकी भी शामिल हैं। पाकिस्तान की बैट टीम में सेना और आतंकी शामिल होते हैं, जो भारत के खिलाफ गतिविधियों को अंजाम देते हैं।
इस कार्रवाई के बाद भारत ने पाकिस्तान को उसके जवानों के शवों को वापस करने की पेशकश की है। भारत ने पाकिस्तान के सामने प्रस्ताव रखा है कि वे सफेद झंडे के साथ आएं और घुसपैठियों के शव ले जाएं। हालांकि भारत के प्रस्ताव पर पाकिस्तान ने कोई जवाब नहीं दिया है।
 
रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि बैट टीम ने केरन सेक्टर (कुपवाड़ा जिले में) की अग्रिम चौकियों में से एक को निशाना बनाने का प्रयास किया और सतर्क सैनिकों ने उनके इस प्रयास को विफल कर दिया। इसमें पांच से सात जवान/ आतंकवादी मारे गए हैं। 
 
भारतीय सेना ने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से वादी में अशांति फैलाने और अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने की कई कोशिश हुई। स्पष्ट रूप से आतंकी गतिविधियों में पाकिस्तान के हाथ होने के संकेत मिले हैं। सुरक्षा बल सभी नापाक गतिविधियों का जवाब देना जारी रखेंगे। पाकिस्तान ने शनिवार को भारत पर क्लस्टर बम इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था। इसके बाद भारतीय सेना ने इसे झूठ करार दिया।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख भारत ने क्लस्टर बमों के इस्तेमाल को लेकर पाकिस्तान के आरोप को झूठ बताया