17वीं लोकसभा के पहले दिन दिखे रोचक नजारे

सोमवार, 17 जून 2019 (14:04 IST)
नई दिल्ली। सोमवार को 17वीं लोकसभा के पहले दिन संसद में अलग-अलग नजारे देखने को मिले। कई सांसद अपनी वेशभूषा के कारण आकर्षण का केन्द्र थे, वहीं पहली बार लोकसभा पहुंचीं फिल्मी हस्तियों पर भी नेताओं की नजरें टिकी हुई थीं। 
 
मिथिलांचल से निर्वावित भाजपा सांसद गोपालजी जी ठाकुर और अशोक कुमार यादव अपने आकर्षक परिधान से सोमवार को संसद भवन परिसर में आकर्षण का केन्द्र बने रहे। दरभंगा लोकसभा क्षेत्र से निर्पाचित गोपालजी ठाकुर ने मिथिला की पहचान पीले रंग की धोती, कुर्ता और जैकेट पहन रखा था। उनके सिर पर मिथिला के सम्मान का प्रतीक पाग और गले में गमछा था । गमछा और पाग पर मिथिला पेंटिंग बनी थी, जो बेहद आकर्षक लग रही थी।
 
मिथिला की हृदय स्थली मधुबनी के सांसद अशोक कुमार यादव ने सफेद धोती, कुर्ता और भगवा जैकेट पहनी थी। उनके सिर पर पाग और गले में गमछा लटक रहा था। पाग और गमछा पर मिथिला पेंटिंग बनी थी। उन्होंने गले में मखाने की माला भी पहनी थी। यादव पूर्व सांसद हुकुमदेव नारायण यादव के पुत्र हैं। भाजपा ने इस बार हुकुमदेव नारायण यादव को टिकट नहीं दिया था। दोनों सांसदों ने बताया कि वे सीताजी की धरती से निर्वार्चित होकर आए हैं और मैथिली में ही शपथ ग्रहण करेंगे।
 
फिल्म अभिनेता एवं पंजाब के गुरदासपुर से भाजपा के सांसद सनी देओल पूर्वाह्न करीब 11 बजे संसद पहुंचे। उन्होंने हाथ हिलाकर वहां उपस्थित लोगों का अभिवादन किया और लोकसभा के भीतर चले गए।
 
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ अपने सांसद पुत्र नकुल नाथ के साथ संसद पहुंचे। नकुल नाथ छिंदवाड़ा लोकसभा क्षेत्र से विजय हासिल कर संसद पहुंचे हैं। उन्होंने भी हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन किया।
 
क्रिकेटर एवं पूर्वी दिल्ली से भाजपा के सांसद गौतम गंभीर अपने जानी-पहचानी वेशभूषा से अलग सफेद कुर्ते-पायजामे में सजे-धजे नजर आए। 
 
गोरखपुर लोकसभा सीट से सांसद बने फिल्म अभिनेता रवि किशन भी शपथ लेने लोकसभा पहुंचे।
 
पंजाब के संगरूर से आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान पहुंचे। उन्होंने उंगलियों से विक्ट्री (विजय) का चिह्न बनाकर तस्वीरें खिंचवाई।
 
शपथ के लिए श्रीमती स्मृति ईरानी का नाम पुकारे जाने पर प्रधानमंत्री मोदी, शाह समेत सभी सदस्यों ने जोर-जोर से मेजें थपथपा कर प्रसन्नता का इज़हार किया। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने संस्कृत में शपथ ग्रहण की।
 
इस बार अगली सीट का नजारा बदला हुआ था। प्रधानमंत्री के साथ राजनाथ सिंह बैठे थे जबकि उनकी बगल की सीट पर शाह, गडकरी, सदानंद गौड़ा एवं थावरचंद गहलोत बैठे थे। रविशंकर प्रसाद, नरेन्द्र सिंह तोमर, हरसिमरत कौर बादल, प्रकाश जावड़ेकर, रामविलास पासवान, अर्जुन मुंडा और शिवसेना के कोटे से मंत्री बने अरविंद सावंत अगली सीट पर बैठे थे।
 
प्रधानमंत्री करीब 10 बजकर 55 मिनट पर सदन में पहुंचे और वे अगली पंक्ति में सभी नेताओं से मिले। मोदी ने कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी से भी भेंट कर उनकी कुशलक्षेम पूछी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अनंतनाग में सुरक्षाबलों से मुठभेड़, 2 आतंकवादी ढेर