Income Tax छापे में खुला कल्कि भगवान का 'काला खजाना', मिले 44 करोड़ कैश, 90 किलो जेवर और 5 करोड़ के हीरे

वेबदुनिया न्यूज डेस्क

मंगलवार, 22 अक्टूबर 2019 (09:39 IST)
धर्म के नाम पर भोली-भाली जनता के साथ छलावा करने वाले कल्कि भगवान आयकर विभाग (Income Tax) के छापों के बाद सुर्खियों में हैं। खुद ‘कल्क‍ि भगवान’ बताने वाले विजय कुमार नायडू के आश्रमों पर आयकर विभाग के छापों में 500 करोड़ रुपए से ज्यादा की अघोषित संपत्ति का खुलासा हुआ है।
 
आयकर विभाग ने कल्कि भगवान के 40 ठिकानों पर छापेमारी की थी जिसमें 44 करोड़ रुपए नकद, 1271 कैरेट (कीमत लगभग 5 करोड़ रुपए) के हीरे और 90 किलो के जेवर, 25 लाख डॉलर बरामद किए गए हैं। आयकर विभाग ने आंध्रप्रदेश, कर्नाटक व तमिलनाडु के आश्रमों पर छापे मारे थे जिनमें इन संपत्तियों का खुलासा हुआ।
ALSO READ: कलियुग के '‍कल्कि भगवान', 25 हजार रुपए में देते थे स्पेशल दर्शन, IT छापों में मिली 409 करोड़ की संपत्ति
70 साल का विजय कुमार खुद को विष्णु भगवान का 10वां अवतार बताता है। खबरों के अनुसार आयकर के छापे के बाद 'कल्कि भगवान' गायब है। 1980 में विजय कुमार ने एलआईसी में क्लर्क की नौकरी छोड़कर जीवाश्रम संस्था की स्थापना की और वेलनेस गुरु के तौर पर मशहूर हुए।
 
आरोप है कि कथित कल्कि बाबा ने अपने ट्रस्टों के जरिए दर्शन और आध्यात्मिक ट्रेनिंग देने के बहाने विदेशियों से भी पैसा बनाया। बाबा के आश्रम में देश के धनी लोगों के अलावा विदेशी और एनआरआई की कतारें लगती थीं। कल्कि भगवान के साधारण दर्शन के लिए 5 हजार और विशेष दर्शन के लिए 25 हजार रुपए देने पड़ते थे।
 
आयकर छापे में खुलासा हुआ है कि अध्यात्म और दर्शन का ट्रेनिंग प्रोग्राम और कोर्स चलाने चलाने वाले बाबा का संस्थान देश और विदेश में भी निवेश कर चुका है। बाबा के आश्रम की कई कंपनियां चीन, अमेरिका, सिंगापुर और यूएई में भी हैं। आयकर विभाग की छापेमारी में बड़े पैमाने में विदेशी करेंसियां भी बरामद की गई हैं।
 
बाबा पर रसीदों में हेरफेर के जरिए कालेधन को सफेद करने के भी आरोप हैं। बाबा ने आश्रम के जरिए रियल स्टेट और खेल में पैसा लगाया। खबरों के मुताबिक कल्कि बाबा से कई बड़ी फिल्मी हस्तियों और रसूखदार लोगों से संबंधों का भी खुलासा हुआ है। बाबा के ट्रस्ट में उनकी पत्नी पद्मावती और बेटा एनकेवी कृष्णा भी पार्टनर हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पीठ और पेट दर्द की शिकायत के बाद नोएडा के मेट्रो अस्पताल में भर्ती हुए रॉबर्ट वाड्रा