अनुच्छेद 370 : कश्मीर में ईद पर दिखा अलग रंग, कंटीले तारों के घेरे में हुई नमाज

सुरेश डुग्गर

सोमवार, 12 अगस्त 2019 (18:09 IST)
जम्मू। इस बार जम्मू-कश्मीर में ईद का त्योहार अलग ही रंग में दिखा। जहां कश्मीर में कर्फ्यू में दी गई मात्र 2 घंटों की ढील और हजारों संगीनों के साए में ईद की नमाज अदा की गई, वहीं जम्मू संभाग में प्रत्येक शहर और कस्बे को कंटीली तारों के घेरे में रखा गया था।
 
संचार के सभी संसाधन बंद होने के कारण कश्मीर वादी समेत अन्य जिलों से ईद की नमाज के दौरान के हालात की कोई अधिकृत जानकारी नहीं है सिवाय पुलिस और प्रशासन के प्रवक्ताओं के दावे के।
इसी प्रकार जम्मू-कश्मीर पुलिस ने ट्वीट किया कि घाटी के अनेक हिस्सों में ईद की नमाज शांतिपूर्ण तरीके से अदा की गई। अभी तक किसी अप्रिय घटना की कोई खबर नहीं है। उनके अनुसार अधिकारियों ने विभिन्न मस्जिदों में मिठाइयां भी बांटी। ईद उल जुहा की पूर्वसंध्या में घाटी में प्रतिबंधों में थोड़ी छूट दी गई थी ताकि लोग त्योहार के लिए खरीदारी कर सकें।
 
गौरलतब है कि जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को केंद्र सरकार द्वारा समाप्त किए जाने के बाद से घाटी में प्रतिबंध लगे हुए हैं, जिससे जनजीवन प्रभावित है। जबकि कुर्बानी व आस्था का प्रतीक ईद-उल-अजहा (बकरीद) जम्मू में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई।
मुस्लिम समुदाय के लोगों ने बकरीद की नमाज अदा कर अमन चैन की कामना की। हालांकि इस दौरान शहर की सभी मस्जिदों जहां ईद की नमाज अदा की जानी थी, वहां सुरक्षा के कडे़ प्रबंध रहे। नमाज अदा होने तक शहर को कंटीलेे  तारों से बंद रखा गया था ताकि कोई भी अप्रिय घटना न हो। अनुच्छेद 370 हटने के बाद यह पहला त्योहार था। मुख्य नमाज ईदगाह मैदान में हुई जहां सैकड़ों लोगों ने सामूहिक रूप से नमाज अदा की।
 
जम्मू-कश्मीर सरकार के प्रिंसिपल सेक्रेटरी और प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा कि रविवार को लोग खरीदारी के लिए घर से बाहर निकले थे। कुछ लोग श्रीनगर जाना चाहते थे। हम ऐसे लोगों को श्रीनगर जाने की सुविधा उपलब्ध कराने की कोशिश कर रहे हैं। पाबंदी के बावजूद लोगों को छूट दी जा रही है। इस संबंध में पुलिस ने भी स्पष्ट किया है। मैं सभी को ईद की शुभकामनाएं देता हूं।
जम्मू में महिलाओं के लिए नमाज अता करने के लिए अलग से व्यवस्था की गई थी, वहीं शिया समुदाय ने कर्बला मैदान में नमाज अदा की। इसके बाद जामा मस्जिद तालाब खटिका, उस्ताद मुहल्ला, वजारत रोड स्थित जैनबिया हॉल में भी नमाज पढ़ने वालों की भीड़ रही। दुआ कबूल होने के बाद हर तरफ ईद मुबारक का स्वर सुनाई दे रहा था। इस अवसर पर सुरक्षा के प्रबंख पुख्ता किए गए थे। (All photos courtesy: DD News Twitter)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख आपके स्मार्टफोन में 'बग' से हैकिंग का खतरा, जानिए कैसे बचें