आतंकियों का हनीट्रेप, निशाने पर जम्मू-कश्मीर के युवा

रविवार, 2 दिसंबर 2018 (21:52 IST)
श्रीनगर। पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जम्मू-कश्मीर के युवाओं को आतंकी बनाने के लिए हनी ट्रैप का इस्तेमाल कर रहे हैं। इन संगठनों से जुड़ी महिलाएं सोशल मीडिया के जरिए युवाओं को हथियारों की डिलिवरी और घुसपैठ के दौरान आतंकियों की मदद करने को उकसाती हैं।
 
उल्लेखनीय है कि सुरक्षाबलों ने 18 नवंबर को बांदीपोरा से सईद शाजिया नामक एक महिला को गिरफ्तार किया था, जिस पर सोशल मीडिया पर युवाओं को आतंकी बनने के लिए उकसाने का आरोप था।
 
सुरक्षाबलों के मुताबिक, सईद शाजिया पर काफी समय से सुरक्षा एजेंसियों की नजर थी। वह फेसबुक और इस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उसके अकाउंट थे। घाटी के हजारों युवा उसे फॉलो भी करते थे। वह युवाओं से बताए गए माल की डिलीवरी करने पर मुलाकात करने का वादा करती थी।
 
शाजिया पुलिस विभाग में भी कई अधिकारियों से सम्पर्क में थी। अधिकारियों ने इसे डबल-क्रॉस की एक सामान्य रणनीति बताया है क्योंकि वह सीमा पार अपने आकाओं को भारतीय सैनिकों की आवाजाही के बारे में ऐसी सूचनाएं मुहैया कराती थी जो बहुत संवेदनशील नहीं होती थीं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING