सिर्फ 19 और... उत्तर कश्मीर हो जाएगा आतंकियों से मुक्त

सुरेश एस डुग्गर

शनिवार, 22 फ़रवरी 2020 (17:35 IST)
जम्मू। कश्मीर पुलिस ने एक आतंकी की गिरफ्तारी के साथ ही दावा किया है कि नार्थ कश्मीर में सक्रिय कुल 19 आतंकियों को ढेर करने के साथ ही नार्थ कश्मीर आतंकियों से मुक्त हो जाएगा। दरअसल बारामुल्ला पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। सुरक्षाबलों ने यहां एक आतंकी को गिरफ्तार किया है। आतंकी जुनैद का पकड़ा जाना पुलिस के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन संगठन का है। पकड़े गए आतंकी से पुलिस पूछताछ कर रही है।

हालांकि पुलिस इसे मानती थी कि ये 19 आतंकी नए भर्ती हुए युवा हैं जिन्हें बरगलाने में पाकिस्तान हाल ही में कामयाब हुआ है। इसलिए पहले पुलिस ऑपरेशन 'मां' के तहत उन्हें हथियार डालने का मौका देना चाहती है। दरअसल बारामुल्ला पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। सुरक्षाबलों ने यहां एक आतंकी को गिरफ्तार किया है। आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन संगठन का है।

पकड़े गए आतंकी से पुलिस पूछताछ कर रही है। इस आतंकी के पकड़े जाने के बाद कई अहम खुलासे होने की भी उम्मीद जताई जा रही है। बारामुल्ला पुलिस को सूचना मिली कि हिज्बुल आतंकी जुनैद फारूक इलाके में ही छिपा हुआ है। केंद्रीय रिजर्व पुलिसबल की 176वीं बटालियन, 29-आरआर और बारामुल्ला पुलिस की संयुक्त टीम ने आतंकी को पकड़ने का अभियान शुरू किया, जिसके लिए इलाके में कई जगह नाकेबंदी की गई थीं।

पुलिस का कहना है कि नार्थ कश्मीर में अभी भी 19 स्थानीय आतंकी सक्रिय हैं। इन आतंकवादियों की धरपकड़ के लिए लगातार अभियान जारी है। कश्मीर के उत्तरी क्षेत्र में स्थानीय आतंकवादियों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। काफी युवा आतंकी संगठनों में शामिल हो रहे हैं, यही वजह है कि यहां स्थानीय आतंकियों की संख्या 19 तक पहुंच गई है।

इस आतंकी के पकड़े जाने के बाद पुलिस उप महानिरीक्षक उत्तर रेंज सुलेमान चौधरी ने कहा कि कश्मीर के उत्तरी क्षेत्र में अभी 19 स्थानीय आतंकी सक्रिय हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर के उत्तरी क्षेत्र में स्थानीय आतंकी बढ़ने की वजह से आतंकियों की संख्या में इजाफा हुआ है। इस इलाके में अधिक संख्या में स्थानीय शामिल हो रहे हैं और यह संख्या 19 तक पहुंच गई है।

हिजबुल आतंकी जुनैद का पकड़ा जाना पुलिस के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। ज्ञात हो कि घाटी में हिजबुल की कमर लगातार टूटती जा रही है। सुरक्षाबलों की मुस्तैदी के चलते आतंकी किसी भी वारदात को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं।

डीआईजी सुलेमान चौधरी ने कहा कि सुरक्षाबल पूरी तरह से सतर्क हैं। सूचना तंत्र को भी मजबूत कर दिया गया है। जो राष्ट्रविरोधी तत्व उत्तरी क्षेत्र में युवाओं को बरगलाने का प्रयास कर रहे हैं, उनकी धरपकड़ के लिए भी रणनीति बनाई गई है। इन स्थानीय आतंकवादियों की धरपकड़ के लिए अभियान जारी है। स्थानीय लोगों की मदद भी ली जा रही है। चौधरी ने कहा कि इस बात का खुलावा गत शुक्रवार को पकड़े गए हिजबुल मुजाहिदीन के स्थानीय आतंकवादी जुनैद मंजूर से की गई पूछताछ में हुआ है।

डीआइजी ने बताया कि गत शुक्रवार को विश्वसनीय सूत्रों से यह जानकारी मिली थी कि जुनैद को बारामुल्ला के टापर इलाके में देखा गया है। सूचना मिलते ही पुलिस, सीआरपीएफ और सेना के जवानों ने इलाके में संयुक्त नाका लगाकर तलाशी अभियान शुरू कर दिया। उसी दौरान जुनैद को जिंदा पकड़ लिया गया। उसके कब्जे से एक चीनी पिस्तौल, 30 जिंदा राउंड और अन्य गोला-बारूद बरामद किया गया।

उससे जब पूछताछ की गई तो पता चला कि उत्तरी कश्मीर में काफी संख्या में युवा आतंकी संगठनों में शामिल हुए हैं। जुनैद से पूछताछ हो रही है और पुलिस का दावा है कि उससे और भी कई महत्वपूर्ण सुराग मिलेंगे। इस अवसर पर डीआईजी के साथ एसएसपी अब्दुल कयूम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
फोटो सौजन्‍य : टि्वटर

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Nirbhaya Case : दोषी विनय की अर्जी को पटियाला हाउस कोर्ट ने किया खारिज, मानसिक बीमारी का किया था बहाना