दिल्ली में कांग्रेस की उम्मीद थीं शीला दीक्षित, 15 साल किया राज, जानिए 10 खास बातें

शनिवार, 20 जुलाई 2019 (18:39 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष शीला दीक्षित का शनिवार को निधन हो गया। वे 81 साल की थीं। 15 साल लगातार दिल्ली पर राज करने वालीं शीला दीक्षित के बारे में 10 खास बातें...
 
- उत्तरप्रदेश में महिलाओं पर समाज में हो रहे अत्याचारों के विरोध में 1990 में उन्होंने लगातार प्रदर्शन किए। इस पर उन्हें बंद कर दिया गया। 82 साथियों के साथ 23 दिनों तक वे जेल में रहीं।
- शीला दीक्षित 1998 से 2013 के बीच 15 वर्षों तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। राष्ट्रीय राजधानी में पार्टी को फिर से खड़ा करने के मकसद से उन्हें कुछ महीने पहले ही दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया था।
- शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था। उन्होंने दिल्ली के कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल से पढ़ाई की और फिर दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हाउस कॉलेज से उच्च शिक्षा हासिल की।
- वे पहली बार साल 1984 में उत्तरप्रदेश के कन्नौज से सांसद चुनी गईं। बाद में वे दिल्ली की राजनीति में सक्रिय हुईं।
- शीला के पुत्र संदीप दीक्षित भी राजनीति में हैं। वे पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से 2004 से 2014 बीच 2 बार सांसद रहे हैं।
- शीला दीक्षित ने हाल में उत्तर-पूर्वी दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा का चुनाव लड़ा था लेकिन वे जीत नहीं पाई थीं।
- 2017 के उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में वे कांगेस पार्टी की ओर मुख्यमंत्री पद लिए उम्मीदवार घोषित की गई थीं।
- 2014 में शीला दीक्षित को केरल का राज्यपाल भी बनाया गया था।
- शीला दीक्षित दिल्ली की दूसरी महिला मुख्यमंत्री थीं।
- उनका नाम कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में शुमार किया जाता था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख जेवराती मांग में गिरावट से सोना टूटा, चांदी भी हुई कमजोर, जानिए क्‍या रहे भाव