सियासत के 'असली कॉमनमैन' मनोहर पर्रिकर के जीवन से जुड़ीं 10 बातें, जिनसे मिलती है सादगी की झलक

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। उनके निधन से देश शोक में डूब गया है। गोवा के चार बार मुख्यमंत्री रहे मनोहर पर्रिकर की छवि हमेशा सादगीभरी रही। आइए, जानते हैं वे खास बातें जिनसे मिलती है उनकी सादगी की झलक...

1. मनोहर पर्रिकर का राजनीतिक जीवन उपलब्धियों भरा रहा है। वे चार बार गोवा के मुख्यमंत्री रहे। 14 मार्च 2017 को पर्रिकर चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री बने थे। वे उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के सदस्य भी रह चुके हैं।
2. मनोहर पर्रिकर को 16 से 18 घंटे काम करने की आदत थी।
3. मनोहर पर्रिकर मोदी सरकार में रक्षामंत्री भी रहे। वे पर्रिकर ही थे जिनके रक्षामंत्री रहते भारत ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक कर उसको सबक सिखाया था।
4. मनोहर पर्रिकर ने गोवा का मुख्यमंत्री रहते हुए कई साल तक मुख्यमंत्री आवास का प्रयोग नहीं किया। वे खुद के घर में ही रहते थे।
5. मनोहर पर्रिकर को सूट-बूट या गलाबंद जैसी पोशाकों में कम ही देखा गया। एक चर्चित किस्सा है कि अक्सर हॉफ शर्ट और चप्पल में नजर आने वाले मनोहर पर्रिकर को एक बार फाइव स्टार होटल के बाहर रोक दिया गया था, क्योंकि वे चप्पल पहनकर वहां गए थे।
6. मनोहर पर्रिकर पणजी में स्थानीय बाजारों से खरीदारी के लिए स्कूटर का प्रयोग करते थे। कई बार विधानसभा जाते समय सरकारी गाड़ी को छोड़कर स्कूटर का प्रयोग करते थे। मनोहर पर्रिकर की स्कूटर की सवारी करते हुए उनकी कई तस्वीरें भी वायरल हुई थीं।
7. पर्रिकर को साइकल चलाना भी बेहद पसंद था। वे खाली वक्त में साइकल चलाया करते थे। 
8. मनोहर पर्रिकर विमान में हमेशा ही इकोनॉमी क्लास में यात्रा करते थे। उन्हें आम लोगों की तरह अपना सामान लिए यात्रियों की लाइन में खड़े देखा जा सकता था। वे मोबाइल और टेलीफोन के बिल का भुगतान अपनी जेब से करते थे।
9. एक बार मनोहर पर्रिकर पुणे में एक शादी के कार्यक्रम में लाइन में खड़े नजर आए थे। यह तस्वीर बताती है कि मनोहर पर्रिकर सियासत के असली 'कॉमन मैन' थे। 
10. छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह ने मनोहर पर्रिकर की सादगी पर एक वाकया याद करते हुए कहा कि 'मैं हमेशा उन्‍हें हॉफ शर्ट में देखता था। ऐसे ही एक बार उनसे पूछ लिया कि वह गलाबंद या टाई-सूट क्यों नहीं पहनते, तो उनका जवाब था कि वे कपड़े उन्हें फंदे जैसे लगते हैं। पर्रिकर ने कहा था कि वे साधारण पैंट-शर्ट और चप्पल में आरामदायक महसूस करते हैं, इसलिए वही पहनते हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख 'चौकीदार' तय करेगा किसके पास होगी दिल्ली की सत्ता की चाबी?