Nirbhaya Case : अलग-अलग फांसी पर रुकी सुनवाई, जज की तबीयत बिगड़ी

शुक्रवार, 14 फ़रवरी 2020 (15:05 IST)
नई दिल्ली। निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में 2 बार डेथ वारंट जारी होने के बाद भी दोषियों को फांसी देने के मामले में एक के बाद एक अड़ंगे आ रहे हैं। अब जबकि दोषी सजा टालने के लिए ‍अपने-अपने विकल्प आजमा रहे हैं, ऐसे में केन्द्र सरकार ने दोषियों को अलग-अलग फांसी दिए जाने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है।
 
दरअसल, शुक्रवार को जब दोषियों को अलग-अलग फांसी दिए जाने संबंधी केन्द्र की याचिका पर सुनवाई चल रही थी, तब बीच में ही न्यायमूर्ति भानुमति की तबीयत बिगड़ गई। उनकी तबीयत बिगड़ने के बाद मामले की सुनवाई बीच में ही रोक दी गई।
 
उल्लेखनीय है कि निचली अदालत ने 31 जनवरी को अगले आदेश तक के ‍लिए चारों दोषियों- मुकेश कुमार सिंह, पवन गुप्ता, विनय कुमार शर्मा और अक्षय कुमार को फांसी देने पर रोक लगा दी थी। ये चारों दोषी इस समय तिहाड़ जेल में बंद हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख ट्रंप की भारत की पहली यात्रा से पहले व्हाइट हाउस का बयान, भारत की ईंधन जरूरतों को पूरा करने में अमेरिका सक्षम