मोदी का तंज, आंखों की गुस्ताखियां पता चलीं, गले लगने और गले पड़ने का अंतर भी समझा

बुधवार, 13 फ़रवरी 2019 (17:06 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को 16वीं लोकसभा के समापन सत्र को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर परोक्ष रूप से निशाना साधा। 
 
पीएम मोदी ने लोकसभा में अपने अनुभवों को साझा करते हुए राहुल का नाम लिए बिना हमला किया कि मुझे सदन में पहली बार आंखों की गुस्ताखियों के बारे में पता चला। साथ ही मैंने गले मिलने और गले पड़ने का अंतर भी समझा। गौरतलब है कि राहुल संसद सत्र के दौरान मोदी के पास जाकर अचानक उनके गले लग गए थे, उसके बाद उन्होंने अपने सहयोगियों की ओर देखकर आंख भी मारी थी। 
 
उन्होंने कहा कि बड़े-बड़े लोगों ने सदन में हवाईजहाज उड़ाए। हालांकि पांच साल में भूकंप नहीं आया। उन्होंने फिर से प्रधानमंत्री बनने की बात पर मुलायमसिंह यादव का शुक्रिया अदा किया। 
 
हमने 203 बिल पास कराए : मोदी ने कहा कि तीन दशक के बाद हमने पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाई थी। आजादी के बाद पहली बार बिना कांग्रेस के 'गोत्र' वाली सरकार बनाई थी। कांग्रेस का गोत्र नहीं, ऐसी पहली मिलीजुली सरकार अटलजी की थी और ऐसी पूर्ण बहुमत वाली सरकार 2014 में बनी।
 
प्रधानमंत्री ने विपक्ष की तारीफ भी की। मोदी ने कहा- अगर 5 साल के ब्योरे को देखें तो विपक्ष ने इसकी ताकत को बढ़ाने का काम किया। सदन के सभी साथियों का इसमें गौरवपूर्ण योगदान है।
 
महिला सांसदों की भागीदारी बढ़ी : उन्होंने कहा कि 16वीं लोकसभा पर इस बात के लिए भी गर्व करेंगे कि देश में इतने चुनाव हुए, उसमें पहली बार महिला सांसदों की भागीदारी बढ़ी। 44 महिला सांसद पहली बार आईं। सभी महिलाओं ने सदन में अपनी मौजूदगी पर्याप्त रूप से दर्ज करवाई। इसके लिए हमें इनका अभिनंदन करना चाहिए। पहली बार स्पीकर, रजिस्ट्रार जनरल और सिक्युरिटी जनरल भी महिला के तौर पर यहां मौजूद हैं। हमारी रक्षामंत्री और विदेशमंत्री भी महिला हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख व्यापार मुद्दे पर ट्रंप बोले, अमेरिका से समझौता करना चाहता है चीन