Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

PM मोदी ने दिया नया नारा- 'गंदगी भारत छोड़ो', कहा- कोरोना से लड़ाई में स्वच्छता बड़ा हथियार

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
शनिवार, 8 अगस्त 2020 (19:34 IST)
नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने शनिवार को दिल्‍ली में 'स्वच्छ भारत अभियान' के तहत बनाए गए 'राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र' का उद्घाटन किया। महात्मा गांधी को समर्पित किए गए इस केंद्र में लोगों को स्वच्छ भारत मिशन की सफलता और स्‍वच्‍छता के फायदों के बारे में बताया जाएगा। राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र के उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने बच्‍चों से संवाद किया और उन्‍हें स्‍वच्‍छता की लड़ाई में अपनी सेना बताया।

महात्‍मा गांधी ने आज ही के दिन आजादी की लड़ाई का आंदोलन शुरू करते हुए अंग्रेजों भारत छोड़ो का नारा दिया था। इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी 'गंदगी भारत छोड़ो' का नया नारा दिया। पीएम मोदी ने कहा कि साफ-सफाई और स्‍वच्‍छता कोरोना से लड़ाई में काम आने वाला एक बड़ा हथियार है।

मोदी ने कहा कि महात्मा गांधी जी का अभियान था- अंग्रेजों भारत छोड़ो। अब हम लोग अभियान चला रहे हैं- गंदगी भारत छोड़ो। देश को कमजोर बनाने वाली बुराइयां भारत छोड़ें, इससे अच्छा और क्या होगा। इसी सोच के साथ पिछले 6 वर्षों से देश में एक व्यापक 'भारत छोड़ो अभियान' चल रहा है।
webdunia

प्रधानमंत्री ने कहा कि गरीबी- भारत छोड़ो... खुले में शौच की मजबूरी- भारत छोड़ो... पानी के लिए दर-दर भटकने की मजबूरी- भारत छोड़ो... भ्रष्टाचार की कुरीति- भारत छोड़ो..! प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत छोड़ो के ये सभी संकल्प स्वराज से सुराज की भावना के अनुरूप हैं।

आइए आज से 15 अगस्त तक यानी स्वतंत्रता दिवस तक देश में एक हफ्ते का लंबा अभियान चलाएं। स्वराज के सम्मान का सप्‍ताह यानी 'गंदगी भारत छोड़ो सप्‍ताह'... इस दौरान पीएम मोदी ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई को भी मजबूती से जारी रखने की अपील की।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जैसे गंगाजी की निर्मलता को लेकर हमें उत्साहजनक परिणाम मिल रहे हैं, वैसे ही देश की दूसरी नदियों को भी हमें गंदगी से मुक्त करना है। यहां पास में ही यमुना जी हैं। यमुना जी को भी गंदे नालों से मुक्त करने के अभियान को हमें तेज करना है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि स्‍वच्‍छ भारत अभियान से देश के बच्चे-बच्चे में पर्सनल और सोशल हाइजीन को लेकर जो चेतना पैदा हुई है, इसका बहुत बड़ा लाभ कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भी हमें मिल रहा है। आप कल्पना कीजिए, यदि कोरोना जैसी महामारी 2014 से पहले आती, तो क्या स्थिति होती।

प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान ने हर देशवासी के आत्मविश्वास और आत्मबल को बढ़ाया है लेकिन इसका सबसे अधिक लाभ देश के गरीबों के जीवन पर दिख रहा है। स्वच्छ भारत अभियान से हमारी सामाजिक चेतना, समाज के रूप में हमारे आचार-व्यवहार में भी स्थाई परिवर्तन आया है।

राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र, गांधी जी के स्वच्छाग्रह और उसके लिए समर्पित कोटि-कोटि भारतीयों के विराट संकल्प को एक जगह समेटे हुए है। इस केंद्र में सत्याग्रह की प्रेरणा से स्वच्छाग्रह की हमारी यात्रा को आधुनिक टेक्‍नोलॉजी के माध्यम से दिखाया गया है।

पीएम मोदी ने कहा कि इस ऐतिहासिक दिवस पर राजघाट के समीप, राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र का लोकार्पण अपने आप में बहुत प्रासंगिक है। यह केंद्र, बापू के स्वच्छाग्रह के प्रति 130 करोड़ भारतीयों की श्रद्धांजलि है, कार्यांजलि है।
पिछले साल देश के सभी गांवों ने अपने आप को खुले में शौच मुक्त घोषित किया था, इस सफलता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे बच्‍चे स्वच्छता चैंपियन बन बहुत बड़ी भूमिका निभाने वाले हैं। शहर से लेकर गांव तक, स्कूल से लेकर घर तक आप ही बड़ों को रास्ता दिखा सकते हैं कि वह साफ-सफाई का ध्यान रखें।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
श्रीलंका : महिंदा राजपक्षे चौथी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे