रॉबर्ट वाड्रा से ईडी ने की पूछताछ, प्रियंका गांधी बोलीं, ‘पति के साथ खड़ी हूं...

बुधवार, 6 फ़रवरी 2019 (17:58 IST)
नई दिल्ली। विदेश में कथित तौर पर अवैध संपत्ति रखने के सिलसिले में धनशोधन से जुड़े एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ की। यह पूछताछ ऐसे समय हुई जब हाल ही में उनकी पत्नी प्रियंका गांधी को औपचारिक रूप से कांग्रेस में शामिल किया गया है।
 
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी सफेद टोयोटा लैंड क्रूजर गाड़ी में रॉबर्ट के साथ थीं और उनके पीछे एसपीजी के सुरक्षाकर्मियों की गाड़ियां थीं। उन्होंने वाड्रा को मध्य दिल्ली के जामनगर हाउस स्थित एजेंसी के दफ्तर के सामने छोड़ा और वहां से फौरन अपनी गाड़ियों के काफिले के साथ रवाना हो गईं। इस कदम को लोकसभा चुनावों से पहले राजनीतिक संदेश के तौर पर देखा जा रहा है।
 
इसके कुछ समय बाद ही प्रियंका ने अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव और पूर्वी उत्तरप्रदेश के प्रभारी का पदभार संभाला। उन्हें 23 जनवरी को इस पद के लिए नामित किया गया था। अपने पति से ईडी द्वारा पूछताछ किए जाने से जुड़े एक सवाल के जवाब में प्रियंका ने कहा कि मैं अपने परिवार के साथ खड़ी हूं। यह पहला मौका है जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जीजा वाड्रा संदिग्ध वित्तीय लेन-देन के आपराधिक आरोपों के सिलसिले में किसी जांच एजेंसी के समक्ष पेश हुए हैं।
 
मीडियाकर्मियों की भीड़ के बीच से होकर वाड्रा करीब 3 बजकर 47 मिनट पर ईडी के दफ्तर में दाखिल हुए। उनके वकीलों का एक दल पहले ही वहां पहुंच चुका था। पूछताछ के लिए जाने से पहले उन्होंने वहां हाजिरी रजिस्टर पर अपने दस्तखत किए। वाड्रा ने अवैध विदेशी संपत्ति से जुड़े आरोपों से इंकार किया और आरोप लगाया कि राजनीति को साधने के लिए उन्हें ‘परेशान’ किया जा रहा है।
 
 
कार्यकताओं ने की नारेबाजी : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पदभार संभालने के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनके समर्थन में जमकर नारेबाजी की। हाल ही में प्रियंका को महासचिव-प्रभारी (पूर्वी उत्तरप्रदेश) नियुक्त किया गया है।
 
प्रियंका शाम करीब साढ़े चार बजे 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय पहुंचीं। उनके कांग्रेस मुख्यालय पहुंचने के साथ ही बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता वहां जमा हो गए और 'प्रियंका गांधी जिंदाबाद', प्रियंका नहीं यह आंधी है, दूसरी इंदिरा गांधी है', प्रियंका गांधी आई है, नई रोशनी लाई है’ के नारे लगाने लगे।
 
वे करीब 15 मिनट कांग्रेस मुख्यालय में रुकीं और इस दौरान उन्होंने उत्तरप्रदेश के कुछ जिलों से पार्टी के स्थानीय नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। मुलाकात के बाद गोरखपुर के एक स्थानीय कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रियंकाजी ने हम लोगों से गोरखपुर और आसपास के इलाकों में पार्टी के संगठन की स्थिति के बारे में पूछा।
 
उन्होंने हमसे कहा कि हम पूरी ताकत से जुट जाएं। इससे पहले पार्टी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी पार्टी कार्यालय पहुंचकर कार्यभार संभाला। हाल ही में प्रियंका को महासचिव-प्रभारी (पूर्वी उत्तर प्रदेश) और सिंधिया को महासचिव प्रभारी (पश्चिमी उत्तर प्रदेश) नियुक्त किया गया था।
 
भाजपा ने कांग्रेस पर साधा निशाना : भाजपा ने बुधवार को प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा से धनशोधन के मामले में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा पूछताछ किए जाने को लेकर कांग्रेस एवं राहुल गांधी पर निशाना साधा। भाजपा ने कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव भ्रष्ट लोगों के ‘गैंग’ और नरेन्द्र मोदी की पारदर्शी सरकार के बीच है।
 
भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि वाड्रा को संप्रग सरकार के सत्ता में रहते हुए 2008-09 में पेट्रोलियम और रक्षा सौदों में रिश्वत मिला। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के रिश्तेदार वाड्रा ने इस धन का उपयोग लंदन में कई करोड़ रुपए की आठ से नौ सम्पत्ति खरीदने में किया।
 
भाजपा प्रवक्ता ने ई-मेल का जिक्र करते हुए आरोप लगाया कि वाड्रा की कंपनी को ऐसी अनेक कंपनियों से रिश्वत मिली जिन्हें कालेधन को सफेद करने के लिए बनाया गया था। उन्होंने कहा कि 2019 का चुनाव भ्रष्ट लोगों के गैंग और नरेन्द्र मोदी की पारदर्शी सरकार के बीच है।
 
पात्रा ने कहा कि वे वाड्रा से पूछना चाहते हैं कि ‘रोडपति से करोड़पति बनने का क्या फॉर्मूला है? उन्होंने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार कांग्रेस का कोर एजेंडा है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि सभी लोग जानते हैं कि इस परिवार के लोग जमानत हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पेट्रोलियम सौदे से प्राप्त रिश्वत वाड्रा से जुड़ी कंपनी के खाते में गई।
 
उल्लेखनीय है कि कांग्रेस नेता और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा विदेश में कथित तौर पर अवैध संपत्ति रखने के सिलसिले में धन शोधन से जुड़े एक मामले में पूछताछ के लिये बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष पेश हुए।
 
ममता ने कहा करेंगे चुनाव आयोग से शिकायत : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मोदी सरकार लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी दलों को नोटिस भेज रही है, हम चुनाव आयोग से शिकायत करेंगे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख टी-20 मैच में मिताली राज को बाहर रखने से फिर उठा विवाद