कश्मीर पर इमरान के जख्म पर राहुल ने छिड़का नमक, कहा 100 फीसदी मोदी सरकार के साथ

विशेष प्रतिनिधि

बुधवार, 28 अगस्त 2019 (10:58 IST)
जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 खत्म करने के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी पहली बार खुलकर मोदी सरकार के समर्थन में आए हैं। कश्मीर मुद्दें का अंतरराष्ट्रीकरण करने की कोशिश में जुटे पाकिस्तान को जमकर लताड़ते हुए राहुल ने साफ कहा कि वे जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर पूरी तरह सरकार के साथ खड़े हैं।
 
राहुल गांधी ने एक बाद एक दो ट्वीट कर कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और इसमें पाकिस्तान और किसी भी अन्य देश को हस्तक्षेप की कोई जरूरत नहीं है।
ALSO READ: पाकिस्तान ने कराची एयर स्पेस को 31 अगस्त तक के लिए बंद किया
राहुल ने कहा कि मेरी मोदी सरकार के साथ कई मसलों पर असहमति हो सकती है, लेकिन मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है, इसमें पाकिस्तान और अन्य किसी भी देश के हस्तक्षेप की कोई जगह नहीं है।
 
इसके साथ ही राहुल ने कश्मीर में हिंसा के लिए पाकिस्तान को लताड़ते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर में हिंसा हो रही है और इस हिंसा का पाकिस्तान समर्थन कर रहा है। इसके साथ ही उन्होंने पाकिस्तान को पूरी दुनिया में आंतकवाद का पोषक भी बता डाला।
ALSO READ: Article 370 : बौखलाए पाकिस्तान को राहुल गांधी ने कश्मीर पर दिया करारा जवाब
जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को पंगु करने के बाद यह पहली बार है कि जब राहुल पूरे मुद्दे पर मोदी सरकार के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। इससे पहले जब संसद में अनुच्छेद 370 को हटाने के लेकर विधेयक आया था तब भी राहुल गांधी सदन में नहीं बोले थे।
 
सदन में चर्चा के दौरान कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन ने जब जम्मू-कश्मीर के मामले का यूएन में होने का जिक्र किया था तब भी राहुल ने खुलकर इसका विरोध नहीं किया।
 
कांग्रेस नेता अधीर रंजन के बयान को पाकिसान की सरकार और मीडिया ने हाथोंहाथ लिया था। इसके बाद कांग्रेस की खूब किरकिरी हुई थी। राज्यसभा में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने जम्मू-कश्मीर पर मोदी सरकार को खूब कठघरे में खड़ा किया था।
  ALSO READ: पाकिस्तान की परमाणु धमकियों से नहीं डरता भारत, सेना का इमरान को जवाब
बीते शनिवार को जब राहुल विपक्ष के नेताओं के प्रतिनिधिमंडल के साथ कश्मीर जाने की कोशिश की थी तो उन्हें जिस तरह स्थानीय प्रशासन ने श्रीनगर एयरपोर्ट से बैरंग वापस भेज दिया था उसके बाद राहुल ने कश्मीर के हालात को लेकर कई सवाल खड़े किए थे।
 
राहुल के कश्मीर दौरे और कांग्रेस नेताओं के कश्मीर पर आए बयानों के बाद जब पाकिस्तान उसका लाभ लेने की कोशिश कर रहा था तब ऐसे समय राहुल ने खुद सामने आकर पूरे मुद्दे पर कांग्रेस का स्टैंड साफ कर दिया।
 
पिछले दिनों पेरिस में प्रधानमंत्री मोदी और ट्रंप की मुलाकात के बाद जिस तरह पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान बौखलाए हुए हैं उसमें अब राहुल के इस बयान जख्म पर नमक छिड़कने का काम कर दिया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पाकिस्तान ने कराची एयर स्पेस को 31 अगस्त तक के लिए बंद किया