Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

राजनाथ ने कहा- इतिहासकारों को महाराणा प्रताप की महानता नजर क्यों नहीं आई

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 9 मई 2017 (16:15 IST)
जयपुर। केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्हें आश्चर्य है कि इतिहासकारों को अकबर की महानता तो नजर आई, लेकिन राजस्थान के वीर सपूत महाराणा प्रताप की महानता नजर नहीं आई। उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि इतिहासकारों से यह भूल हुई है।
 
सिंह आज पाली जिले के खारोकडा गांव में महाराणा प्रताप की आदमकद मूर्ति का लोकार्पण करने के बाद समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उन्हें आश्चर्य हो रहा है कि इतिहासकारों को अकबर तो महान दिखा लेकिन महाराणा प्रताप की महानता उन्हें दिखायी नहीं दी। इतिहासकारों ने इस मामले में (महाराणा प्रताप का) सही मूल्यांकन नहीं किया है। इतिहासकारों को अपनी इस गलती को सुधारना चाहिए।
 
राजनाथ ने महाराणा प्रताप के अद्भुत शौर्य और साहस की चर्चा करते हुए कहा कि महाराणा प्रताप ने संघर्ष किया। उन्हें गद्दी और सत्ता विरासत में मिली लेकिन यह गद्दी फूलों की नहीं, बल्कि कांटों की सेज थी। महाराणा प्रताप अदम्य साहस के प्रतीक थे। 
 
त्याग और बलिदान का दूसरा नाम महाराणा प्रताप था। महाराणा ने कभी भी स्वाभिमान को नहीं छोड़ा। सारे हिन्दुस्तान ने उन्हें जननायक के रूप में स्वीकार किया है।
 
केन्द्रीय गृहमंत्री ने पड़ोसी देश पाकिस्तान की चर्चा करते हुए कहा कि पाकिस्तान की कायरना हरकतें जारी हैं। वह अपनी कायरना हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि भारत में हमले के बाद भारत के सैनिकों ने पाकिस्तान की धरती पर घुसकर आतंकवाद का सफाया किया। इसके माध्यम से भारत ने दुनिया में संदेश दिया है कि जरूरत पड़ने पर सीमा पार जाकर भी मार सकते हैं।
 
उन्होंने कहा कि कुछ दिनों पहले जो घटना हुई है, उसे लेकर देश को सेना के जवानों पर भरोसा होना चाहिए। भारत एक मजबूत देश है। हमें हमारी सेना के वीर जवानों के शौर्य और देशभक्ति पर नाज होना चाहिए। देश की जनता के मान सम्मान पर कोई आंच नहीं आने दी जाएगी। 
 
राजनाथ ने कहा कि पहली गोली हम (भारत) नहीं चलाएंगे। यदि उधर से गोली चली तो उसका माकूल जवाब दिया जाएगा। गृहमंत्री ने नरेन्द्र मोदी सरकार के कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार किसानों के विकास के लिए वचनबद्व है। किसानों का विकास हो। हमारी कोशिश है कि वर्ष 2022 तक किसानों की आमदानी दुगुनी हो जाए। युवाओं को रोजगार के लिए अनेक योजनाएं आरंभ की गई हैं। हमारी कोशिश है कि अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मिले।
 
उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना की चर्चा करते हुए कहा कि सरकार का प्रयास है कि कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं बचे जिसके पास खुद का मकान नहीं हो। इस मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश के प्रभारी सांसद ओम प्रकाश माथुर भी मौजूद रहे। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

केजरीवाल की भ्रष्टाचार पर चुप्पी, ईवीएम को बनाया ढाल