Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

क्‍या अब शाहरुख खान अपने बेटे आर्यन के लिए ‘सुनील दत्‍त’ बन पाएंगे?

webdunia
webdunia

नवीन रांगियाल

एक औसत आम आदमी दिनभर मजदूरी करता है, हम्‍माली करता है, ठेला धकाता है और फि‍र भी वह अपने बच्‍चों के अच्‍छे भविष्‍य का सपना देखता है। वो सोचता है कि उसके बच्‍चे किसी अच्‍छे स्‍कूल में पढें और कुछ बन सकें और अपने परिवार का जीवनस्‍तर कुछ ऊपर उठा सकें।

लेकिन बॉलीवुड सुपरस्‍टार शाहरूख खान जैसा खास आदमी चाहता है कि उसका बेटा ड्रग्‍स ले, लड़कियों के पीछे भागे, सेक्‍स करे। और वो सब करे जो वो खुद अपनी जवानी के दिनों में नहीं कर सके।

शायद यह बड़ा फर्क है आम और खास आदमी के बीच। आम आदमी अभावों में सपने देखता है और रसूखदार सबकुछ हासिल कर के, अपने सारे सपने पूरे कर के भी अपने बेटों को इस बात की शै देते कि जाओ, जो मन में आए करो।

क्‍या यह शोहरत का नशा नहीं है, या अमीर होने की दबंगई। कि आपके पास धन है तो आपको हर वो काम करने का लाइसेंस मिल जाता है, जो गैर कानूनी है।

शाहरुख खान ने अपने बेटे आर्यन के बारे में बहुत पहले यह बात कही थी कि वो जिंदगी में सबकुछ करे। अब शाहरुख के साहबजादे आर्यन खान ड्रग्‍स मामले में नॉरकोटि‍क्‍स के शि‍कंजे में आ गए हैं। ऐसा लगता है कि शाहरुख खान की अपने बेटे आर्यन के बारे में कही गई बात सच हो गई।

लेकिन, कानून के हाथ रसूखदारों की सनकों से बड़े होते हैं। एनसीबी के एक अधि‍कारी ने यह कहकर साफ कर दिया कि हमारा काम यह देखना नहीं है कि आरोपी किस का बेटा है। हमारा काम यह पता लगाना है कि उसने अपराध किया है या नहीं।

दरअसल, सोशल मीडि‍या में इस बात की चर्चा नहीं है कि आर्यन ड्रग लेने के आरोप में एनसीबी की हिरासत में ले लिया गया है, बल्‍कि‍ इस बात की चर्चा ज्‍यादा है कि वो शाहरुख का बेटा है।

चाहे जो भी हो, शाहरुख का अपने बेटे के बारे में बयान देना और आज उस बयान का हकीकत में तब्‍दील हो जाना इस बात को तो जाहिर करता ही है कि शाहरुख एक पिता के तौर पर अपनी भूमिका में नाकामयाब रहे हैं।

इसे एक पिता की सनक ही कहेंगे कि वो मीडि‍या में सरेआम यह कहते हैं कि उनका बेटा ड्रग्‍स ले और सेक्‍स करे। उन्‍हें पता भी था कि उनका यह बयान देर सवेरे उनके बेटे तक पहुंच ही जाएगा।

संभवत: शाहरुख ने फ्लैशबैक में जाकर नशे के आदि संजय दत्‍त की नर्क हो चुकी जिंदगी से सबक नहीं लिया और न ही उन्‍होंने यह देखा कि किस तरह उनके पिता सुनील दत्‍त ने अपने बेटे की जिंदगी के लिए संघर्ष किया।      
हालांकि अभी आर्यन पर सिर्फ ड्रग्‍स मामले के आरोप हैं, लेकिन यदि उन्‍हें एनसीबी ने हिरासत में लिया है तो कहीं न कहीं ड्रग्‍स में उनकी भागीदारी तो रही ही होगी।

कहना मुश्‍किल है कि ड्रग्‍स का यह आरोप आर्यन खान के भविष्‍य को कहां लेकर जाता है और शाहरुख खान अपने बेटे के लिए सुनील दत्‍त बन पाएंगे या नहीं।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

भवानीपुर उपचुनाव में ममता बनर्जी की बड़ी जीत, तोड़ा 10 साल पुराना रिकॉर्ड