जाकिर मूसा के वारिस को सुरक्षाबलों ने किया ढेर, J&K के DGP ने बताई आतंकियों के खात्मे की कहानी

बुधवार, 23 अक्टूबर 2019 (11:33 IST)
जम्मू। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि अवंतीपोरा में एनकाउंटर में जिन 3 आतंकियों का खात्मा किया गया, उनकी पहचान हो गई है। मारे गए तीनों आतंकी अंसार गजावतुल हिन्द के थे। मारे गए आतंकियों में अंसार गजावतुल हिन्द का चीफ हामिद लल्हारी भी है, जो जाकिर मूसा की मौत के बाद आतंक की कमान संभाले हुए था।

डीजीपी ने कहा कि हामिद लल्हारी 2016 से जम्मू-कश्मीर में सक्रिय था। ये आतंकी मासूम लोगों को अपना शिकार बना रहे थे। डीजीपी ने कहा कि घाटी में आतंक फैलाने के लिए जैश, लश्कर और हिज्बुल ने गठबंधन कर लिया है। अब अंसार गजावतुल हिन्द ग्रुप का सफाया हो गया।

अंसार गजावतुल हिन्द के 2 आतंकी नवीद, जुनैद भी इस मुठभेड़ में मारे गए हैं। कश्मीर से भटके युवाओं को डीजीपी ने कहा कि हथियारों से सिर्फ मौत मिलती है। इन आतंकियों ने पुलवामा, शोपियां में मासूम लोगों की हत्याएं की थीं। डीजीपी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अब शांति का माहौल है और बाजार में लोगों की चहल-पहल बढ़ी है।

अलकायदा की कश्मीर इकाई अंसार गजवत उल हिन्द का तथाकथित प्रमुख जाकिर मूसा को इसी साल मई में कश्मीर के त्राल में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था। मूसा को पुलवामा के उसी इलाके में मार गिराया गया था, जहां साल 2016 में सेना ने हिजबुल कमांडर बुरहान वानी को ढेर किया था।

आतंकियों के खिलाफ संयुक्त अभियान : आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के आधार पर सेना, केंद्रीय रिजर्व पुलिसबल और पुलिस के विशेष अभियान समूह ने संयुक्त अभियान चलाया। सुरक्षाबल के जवान इलाके की घेराबंदी कर रहे थे, तभी आतंकवादियों ने स्वाचालित हथियारों से उन पर गोलीबारी शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई में गोलियां चलाईं। मुठभेड़ स्थल से हथियार और विस्फोटक भी बरामद किए गए हैं। 
फोटो सौजन्‍य : टि्वटर

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख एमबीए डिग्रीधारी को जिंदा या मुर्दा पकड़वाने पर 15 लाख रुपए का इनाम