पुलवामा में मुठभेड़ में सुरक्षाकर्मियों ने दो आतंकियों को किया ढेर, मुठभेड़ जारी

सुरेश डुग्गर

मंगलवार, 12 फ़रवरी 2019 (10:47 IST)
जम्‍मू। पुलवामा जिले के रत्नीपोरा इलाके में मंगलवार सुबह आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में सेना के दो जवान शहीद हो गए हैं। समाचार भिजवाए जाने तक दो आतंकी भी ढेर किए जा चुके थे। मरने वाले आतंकियों में एक अल बद्र का कमांडर भी है।
 
यह मुठभेड़ आज सुबह शुरू हुई थी। इसके बाद सेना ने पूरे इलाके को घेर लिया है। जानकारी के मुताबिक खुफिया सूचना मिलने पर सेना ने यह ऑपरेशन चलाया था। इसके बाद आतंकियों ने खुद को घिरा देख फायरिंग शुरू कर दी। इस मुठभेड़ में 50 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ की 183/182 बटालियन और पुलवामा की एसओजी टीम शामिल है।
 
सूत्रों के अनुसार इस दौरान 4 से 5 आतंकी सुरक्षाबलों के घेरे में फंसे हुए हैं। ऐतिहातन इलाके में मोबाइल और इंटरनेट सर्विस को बंद कर दिया गया है।
 
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि सेना के 50 आरआर, 10 पीएआरए, एसओजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने रत्नीपोरा क्षेत्र में 2 से 4 आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में विशिष्ट इनपुट के बाद एक कॉर्डन-एंड-सर्च ऑपरेशन शुरू किया था।
 
अधिकारी ने कहा कि गोलियों के प्रारंभिक आदान-प्रदान के दौरान तीन सैनिकों को चोटें आईं और उन्हें तुरंत सेना के 92 बेस अस्पताल, बादामीबाग श्रीनगर ले जाया गया, जहां उनमें से दो ने बाद में दम तोड़ दिया।
 
उन्होंने मृतक सैनिकों की पहचान 50 आरआर के कमांडो बलजीत सिंह और 10 पैरा के नाइक सईद के रूप में की गई है। घायल की पहचान हवलदार चंदर पाल के रूप में हुई है।
 
उन्होंने कहा कि अब तक 2 आतंकवादी भी मारे गए हैं और हथियार के साथ उनके शव घटनास्थल से बरामद किए गए हैं। मारे गए आतंकियों की पहचान अल बद्र के कमांडर अरजमद गुलजार तथा काकापोरा के समीर के रूप में की गई है। समाचार भिजवाए जाने तक ऑपरेशन अभी भी जारी था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख जमीन सौदे मामले में रॉबर्ट वाड्रा से ED की पूछताछ, मोदी सरकार पर लगाया आरोप- मेरी बुजुर्ग मां को किया जा रहा है परेशान...