Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

आपदा क्षेत्र में केंद्रीय राज्यमंत्री को जनता ने सुनाई खरी-खोटी, वीडियो हो रहा वायरल

हमें फॉलो करें webdunia

एन. पांडेय

सोमवार, 25 अक्टूबर 2021 (23:12 IST)
नैनीताल। नैनीताल जनपद के आपदाग्रस्त क्षेत्रों का दौरा करने पहुंचे नैनीताल सांसद व केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट को बेतालघाट के ग्रामीण खरी-खोटी सुनाते दिखाई दे रहे हैं।यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

बेतालघाट क्षेत्र में ग्रामीण पिछले 4 माह से पेयजल के लिए इधर-उधर भटक रहे हैं। उनका कहना है कि कोई उनकी सुनवाई को तैयार नहीं है। जो कार्यकर्ता मंत्रीजी से बहस में उलझते नजर आ रहे हैं, उन्हें भाजपा से ही जुदा बताया जा रहा है।

मंत्री के साथ कार्यकर्ताओं के भाजपा जिंदाबाद के नारों का भी गांववाले विरोध करते दिखे। ग्रामीणों ने मंत्री से पूछा, आज तक कहां थे आप, भाजपा जिंदाबाद करने से कुछ नहीं होगा। बेतालघाट में विरोध के बाद जब मंत्रीजी नैनीताल शहर में बलिया नाला क्षेत्र में हो रहे भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण करने पहुंचे वहां भी लोगों ने उनको खूब खरी-खोटी सुना दी।लोगों ने राज्य सरकार पर क्षेत्र के विकास कार्य व बलिया नाला क्षेत्र में काम करने में दिलचस्पी न दिखाने का आरोप लगाया।

साथ ही लोगों ने विधानसभा चुनाव 2022 का बहिष्कार करने की चेतावनी भी दी। लोगों को समझाते हुए राज्यमंत्री अजय भट्ट ने कहा कि बलिया नाला क्षेत्र में पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी व केंद्र सरकार ने बलिया नाला ट्रीटमेंट के लिए 15 करोड़ रुपए का बजट अवमुक्त किया था। केंद्र सरकार के द्वारा जल्द से जल्द बलिया नाला क्षेत्र में हो रहे भूस्खलन को रोकने व नाले के ट्रीटमेंट के लिए कार्य योजना बनाकर धरातल पर लाई जाएगी, जिससे भूस्खलन को रोका जा सके।

अजय भट्ट ने कहा कि भूस्खलन प्रभावित क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को दुर्गापुर में बने आवासों में विस्थापित किया जाएगा, जिसके बाद स्थापित लोगों को रूसी व ताकुला क्षेत्र में भूमि आवंटित होगी।अजय भट्ट ने यह भी कहा कि जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने बलिया नाला क्षेत्र को अति संवेदनशील घोषित किया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

रूस में रिकॉर्ड Corona केस, 1000 से ज्यादा लोगों की मौत