Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

रो पड़े Paytm के CEO विजय शेखर, कैसे अलीगढ़ से 10 हजार लेकर पहुंचे बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज, बन गए डि‍जिटल पैमेंट के किंग

webdunia
गुरुवार, 18 नवंबर 2021 (16:57 IST)
कुछ कहानियां भावुक कर देती हैं, रुला देती हैं। जब ऐसी कहानियों की कामयाबी बयां की जा रही होती है तो आंखों से आंसू बरबस ही छलक आते हैं।

यह कहानी है Paytm के फाउंडर विजय शेखर शर्मा की। उनके संघर्ष की। अलीगढ़ के इस लड़के ने जब यह सपना चुना तो उसके हाथ में महज 10 हजार रुपए थे। यह उनकी नौकरी की सैलरी थी, वे बेहद ही सादे आदमी थे, न ठीक से बोलना आता था और न ही अंग्रेजी आती थी। लेकिन उनके पास जो सपना था, वो बेहद बड़ा था, जिसे शायद हम देखने में ही डर जाएं।

जब वे बतौर Paytm सीईओ अपने संघर्ष की कहानी बयां कर रहे थे तो उनके साथ हर कोई भावुक था, हर किसी की आंखें नम थीं। मौका था पेटीएम आईपीओ लिस्‍ट‍िंग Paytm IPO Listing का।

विजय शेखर शर्मा की आंखों में आंसू छलक आए। उन्होंने कहा कि आज का दिन उनके लिए उनकी कंपनी के लिए बेहद खास है।

पेटीएम आईपीओ की लिस्टिंग के मौके पर जैसे ही Paytm के सीईओ विजय शेखर शर्मा बोलने के लिए आते हैं। उनका गला रुंध जाता है। इस दौरान बैकग्राउंड में बजने वाली राष्‍ट्रगान की धुन सुनकर उनकी रुलाई फूट पड़ती है। उनकी आंखों के सामने अलीगढ़ से लेकर बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज BSE तक के दृश्‍य तैर रहे थे।

लेकिन जिसने भी उनके संघर्ष की कहानी सुनी वो भावुक हो गया और कामयाबी की इस मिसाल को सुनकर फख्र करने लगा।

दरअसल, वे उत्‍तर प्रदेश से एक सपना लेकर निकले थे। तब उनके पास कुछ नहीं था। उन्‍होंने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से सिर्फ 10 हजार रुपये लेकर 2010 में पेटीएम (Paytm) का सपना देखा था, जो आसान नहीं था। कामयाबी की इस छोटी सी पिक्‍चर के बीच बहुत सारा संघर्ष और थका देने वाली मेहनत थी। लेकिन जब ये सपना पूरा हुआ तो उस कामयाबी का मजा भी उतना ही आया। आज वे हजारों लोगों को संबोधि‍त कर रहे थे।

एक वक्‍त यह भी आया जब उनसे लोगों ने कहा कि पेटीएम जैसे प्रोजेक्‍ट के लिए इतने पैसे कहां से आएंगे, तो उन्‍होंने कहा था, मैं पैसे के लिए नहीं, उद्देश्य के लिए काम करुंगा, पैसे अपने आप आ जाएंगे। और आज भारत में हर कोई पेटीएम का इस्‍तेमाल कर रहा है। बस, यही है पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा की कहानी।
दिलचस्‍प बात है कि आज विजय शेखर शर्मा की कामयाबी की यह कहानी नए स्‍टार्ट अप शुरू करने वालों को एक केस स्‍टडी के तौर पर सुनाई जाती है। लोग उनकी मिसालें देकर उनसे सीखते और सि‍खाते हैं।

पेटीएम निवेशकों का दिन रहा खराब
हालांकि, बड़ी उम्मीद के साथ Paytm में पैसा लगाने वालों का आज गुरुवार का दिन अच्‍छा नहीं रहा। देश के सबसे बड़े डिजिटल पेमेंट प्लेटफॉर्म पेटीएम (Paytm) की पैरंट कंपनी One 97 Communications की आज शेयर बाजार में लिस्टिंग तो हुई, लेकिन उसे बहुत अच्छा रेस्पांस नहीं मिला। कंपनी का शेयर डिस्काउंट के साथ शेयर बाजार में लिस्ट हुआ। बीएसई (BSE) पर यह 1955 रुपये यानी 9.07 फीसदी डिस्काउंट के साथ पर लिस्ट हुआ। इसका इश्यू प्राइस 2150 रुपये था। यानी एक शेयर पर निवेशक को 195 रुपये प्रति शेयर का घाटा हुआ। एनएसई (NSE) पर कंपनी का शेयर 9.3 फीसदी डिस्काउंट के साथ 1,950 रुपये पर लिस्ट हुआ।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

पाकिस्तानी संसद ने दी आदतन दुष्कर्मी को नपुंसक बनाने की मंजूरी