Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Weather Alert : देश के कई राज्‍यों में मानसून का अलर्ट, असम में बाढ़ का कहर जारी

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 20 जून 2022 (16:21 IST)
नई दिल्ली। दक्षिण-पश्चिम मानसून अपनी सामान्य तिथि 27 जून के आसपास दिल्ली पहुंचेगा और बारिश की कमी की भरपाई जून के अंत तक हो जाने की संभावना है। आईएमडी के मुताबिक, मानसून मध्य प्रदेश के अधिकतर हिस्सों, पूरे ओडिशा और गांगेय पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार के अधिकांश हिस्सों और दक्षिण-पूर्व उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों की ओर बढ़ गया है। वहीं असम में बाढ़ से नगांव जिला बुरी तरह प्रभावित है।बाढ़ के कारण 34 जिलों में कुल 42,28,157 लोग प्रभावित हैं और 71 लोग जान गंवा चुके हैं।

मौसम विज्ञान विभाग ने सोमवार को यह जानकारी दी कि पिछले तीन दिन में हुई मानसून-पूर्व वर्षा ने दिल्ली में बारिश की कमी को 34 प्रतिशत तक कम कर दिया है और अधिकतम तापमान गिरकर लगभग 30 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है।

सफदरजंग वेधशाला में रविवार को अधिकतम तापमान 30.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया था, जो 17 जून 2013 के बाद से इस महीने का अब तक का सबसे कम तापमान है। शहर में एक जून के बाद से 23.8 मिमी बारिश हुई है, जबकि इस अवधि में सामान्य तौर पर 36.3 मिमी बारिश होती है। यह बारिश पिछले चार दिन में हुई है।

स्काईमेट वेदर के अध्यक्ष (मौसम विज्ञान) जीपी शर्मा ने बताया कि अगले दो से तीन दिन में पश्चिम बंगाल, उत्तरी ओडिशा और उससे सटे बांग्लादेश के कुछ हिस्सों में चक्रवाती हवाओं का एक क्षेत्र बनेगा, जो सिंधु-गंगा के मैदानी इलाकों में हवा की प्रणाली में बदलाव लाएगा।

उन्होंने कहा, ये चक्रवाती हवाएं सामान्य पूर्वी प्रवाह की शुरुआत करेंगी जो पश्चिमोत्तर भारत में मानसून के आगे बढ़ने के लिए महत्वपूर्ण है। दिल्ली में यदि ठीक 27 जून नहीं, तो सामान्य तिथि के आसपास मानसून की पहली बारिश होगी।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के वरिष्ठ वैज्ञानिक आरके जेनामणि ने कहा कि मानसून सामान्य रूप से आगे बढ़ रहा है और ऐसी किसी प्रणाली का पूर्वानुमान नहीं है जो अभी इसकी प्रगति को रोक सके। आईएमडी ने बताया कि मानसून मध्य प्रदेश के अधिकतर हिस्सों, पूरे ओडिशा और गांगेय पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार के अधिकांश हिस्सों और दक्षिण-पूर्व उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों की ओर बढ़ गया है।

इसने गुरुवार को बताया था कि मानसून के 23 जून से 29 जून के बीच पश्चिमोत्तर भारत के विभिन्न हिस्सों में पहुंचने की संभावना है। आईएमडी ने पिछले साल भविष्यवाणी की थी कि मानसून अपनी सामान्य तिथि से लगभग दो सप्ताह पहले दिल्ली पहुंच जाएगा। बहरहाल, यह 19 वर्षों में सबसे अधिक देरी के साथ 13 जुलाई को राजधानी पहुंचा था।
webdunia

असम में 2 पुलिसकर्मी बाढ़ में बहे : असम के नगांव जिले में बाढ़ में फंसे लोगों की मदद करने के लिए गए एक पुलिस थाने के प्रभारी समेत दो पुलिसकर्मी पानी के तेज बहाव में बह गए और उनके शव सोमवार को बरामद किए गए।

राज्य के विशेष पुलिस महानिदेशक जीपी सिंह ने बताया कि कामपुर पुलिस थाने के प्रभारी अधिकारी सैम्युजल काकोती ने रविवार देर रात को बाढ़ के बारे में सूचना मिलने के बाद चार पुलिसकर्मियों को लेकर नौका से पचोनिजार मधुपुर गांव पहुंचे।

उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मी के बाढ़ के पानी से उफनती नदी में गिर गए और तेज बहाव में बह गए।इनमें से काकोती का शव कई घंटों की तलाश के बाद सोमवार को तड़के निकाला गया। अन्य पुलिसकर्मी की पहचान राजीव बोरदोलोई के रूप में की गई है।

सिंह ने कहा, हम सब-इंस्पेक्टर सैमुजल काकोती और कांस्टेबल राजीव बोरदोलोई के साहस एवं वीरता को सलाम करते हैं। उनका निस्वार्थ कृत्य असम पुलिसकर्मियों की भविष्य की पीढ़ियों के लिए एक प्रेरणा रहेगा। उन्होंने कहा, हम दुख की इस घड़ी में अपने कर्मियों और उनके परिवारों के साथ खड़े हैं और बहादुर पुलिसकर्मियों द्वारा दिखाए गए साहस को सलाम करते हैं।

असम में बाढ़ से नगांव जिला बुरी तरह प्रभावित है और कामपुर में कोपिली नदी में बाढ़ से 3,64,459 लोग प्रभावित हुए हैं। अधिकारियों ने बताया कि बाढ़ के कारण 34 जिलों में कुल 42,28,157 लोग प्रभावित हैं और 71 लोग जान गंवा चुके हैं।

मुंबई और ठाणे में 21 जून तक भारी बारिश का अनुमान : भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को मुंबई और ठाणे में 21 जून तक गरज के साथ भारी बारिश होने का अनुमान जताने के साथ ही दोनों शहरों के लिए 'ऑरेंज अलर्ट' जारी किया।

आईएमडी के अनुसार, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग के तटीय जिलों के लिए 20-21 जून को भारी बारिश के अनुमान के साथ ही ऑरेंज अलर्ट से संबंधित चेतावनी जारी की गई थी। आईएमडी मौसम संबंधी अलर्ट के लिए चार रंगों का इस्तेमाल करता है, जिनमें हरा (कोई चेतावनी नहीं), पीला (नजर रखो), ऑरेंज (सतर्क रहो) और लाल (गंभीर चेतावनी) रंग शामिल है।

राजस्थान में मानसून पूर्व बारिश का दौर जारी : राजस्थान में मानसून से पहले की बारिश का दौर सोमवार को भी जारी रहा जहां बीते चौबीस घंटे के दौरान बीकानेर, जयपुर, अजमेर, कोटा और भरतपुर संभाग में मध्यम से भारी दर्जे की बारिश हुई। इस दौरान सबसे अधिक बारिश फुलेरा (जयपुर) में दर्ज की गई जो 82 मिलीमीटर रही।

इस दौरान फुलेरा में 82 मिमी, सांभर में 70 मिमी, श्रीमाधोपुर में 68 मिमी., बारां में 68 मिमी. व मकराना में 76 मिमी. बारिश हुई। मौसम विभाग का कहना है कि बारिश का दौर अभी जारी रहेगा और कई जगह भारी बारिश हो सकती है।

मौसम केन्द्र के अनुसार सोमवार को जयपुर, अजमेर, भरतपुर,कोटा व बीकानेर संभाग में कहीं-कहीं पर हल्की से मध्यम वर्षा जारी रहने की संभावना है और एक-दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। वहीं 21 जून को बीकानेर संभाग के गंगानगर, हनुमानगढ़ एवं आसपास के जिलों में एक-दो स्थानों पर भारी बारिश होने की भी संभावना है। हालांकि 22 जून से राज्य में बारिश की गतिविधियों में कमी आएगी।(एजेंसियां)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

एक और बुराड़ी! महाराष्ट्र के सांगली में एक ही परिवार के 9 सदस्य घर में मृत पाए गए