Cyclone Amphan प्रभावित इलाकों में आवश्यक सेवाओं की बहाली के लिए पश्चिम बंगाल ने मांगी सेना की मदद

शनिवार, 23 मई 2020 (19:50 IST)
कोलकाता। पश्चिम बंगाल ने राज्य में 'अम्फान' चक्रवात से प्रभावित इलाकों में आवश्यक सेवाओं की बहाली के लिए शनिवार को सेना, रेलवे और बंदरगाह से मदद मांगी है। सरकार ने निजी संस्थाओं से भी इस उद्देश्य के लिए कर्मियों और उपकरणों को उपलब्ध कराने को कहा है।

गृह विभाग ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर कहा कि प्रदेश सरकार ने एकीकृत कमान के तौर पर आवश्यक आधारभूत ढांचों और सेवाओं को बहाल करने के लिए अधिकतम ताकत झोंक दी है। उसने ट्वीट किया, सेना की मदद मांगी गई है, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के दस्ते तैनात हैं, रेलवे, बंदरगाह और निजी क्षेत्र से भी आपूर्ति दल और उपकरणों के लिए अनुरोध किया गया है।

विभाग ने कहा कि पीने का पानी और पानी की निकासी के लिए आधारभूत ढांचे को तेजी से बहाल किया जा रहा है और लोक स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग से उन इलाकों में पानी की थैलियां वितरित करने के कहा गया है जहां अभी समस्या है।

गृह विभाग ने कहा, जहां जरूरत है वहां जनरेटरों को किराए पर लिया जा रहा है। विभिन्न विभागों और निकायों के 100 से ज्यादा दल गिरे हुए पेड़ों को काटने में लगे हुए हैं जो मोहल्लों में बिजली की आपूर्ति बहाल करने के लिए अहम है।

उसने कहा, डब्ल्यूबीएसईडीसीएल और सीईएससी से अधिकतम कर्मियों को लगाने को कहा गया है यद्यपि लॉकडाउन की वजह से तैनाती क्षमता काफी प्रभावित हुई है। पुलिस हाईअलर्ट पर है। कोलकाता और पड़ोसी जिलों में चक्रवात के तीन दिन बाद भी बिजली, पानी की आपूर्ति बहाल नहीं होने पर लोगों के प्रदर्शन के बाद यह घोषणा की गई।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोगों से धैर्य बनाए रखने को कहा है क्योंकि प्रशासन सामान्य स्थिति बहाल करने में लगातार लगा हुआ है। ‘अम्फान’ चक्रवात की वजह से राज्य में 86 लोगों की जान चली गई और कम से कम 14 जिलों में आधारभूत ढांचों को खासा नुकसान पहुंचा है।

एनडीआरएफ की 10 और टीमें बंगाल भेजीं : राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की दस और टीमें चक्रवात अम्फान से प्रभावित पश्चिम बंगाल में राहत और बचाव अभियान में तेजी के लिए भेजी जा रही हैं।
अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के प्रधान सचिव (आपदा प्रबंधन और नागरिक सुरक्षा) से लिखित अनुरोध मिलने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा बल की अतिरिक्त टीमें भेजी गई हैं। एनडीआरएफ के एक प्रवक्ता ने कहा कि पश्चिम बंगाल के बाहर स्थित एनडीआरएफ केंद्रों से दस अतिरिक्त टीमों को एकत्र किया गया है और उन्हें जल्द से जल्द रवाना किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि टीमों के शनिवार देर रात तक कोलकाता पहुंच जाने की संभावना है। पश्चिम बंगाल में चक्रवात प्रभावित छह जिलों में पहले से ही एनडीआरएफ की 26 टीमें तैनात हैं। इन टीमों के वहां भेजे जाने के बाद कुल टीमों की संख्या 36 हो जाएगी।
इस बीच पश्चिम बंगाल में चक्रवात के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 85 हो गई है। तीन दिन बाद भी सामान्य स्थिति बहाल करने में प्रशासन की विफलता को लेकर लोगों ने कोलकाता के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन किया। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, राज्य के लगभग 1.5 करोड़ लोग चक्रवात के कारण सीधे प्रभावित हुए हैं और 10 लाख से अधिक घर नष्ट हो गए हैं।(भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख योगी सरकार का बड़ा फैसला, UP के शॉपिंग मॉल्स में बिकेगी शराब