सुप्रीम कोर्ट का केंद्र सरकार को आदेश, 3 महीने के अंदर महिला अधिकारियों को दे स्थायी कमीशन

सोमवार, 17 फ़रवरी 2020 (11:07 IST)
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को केंद्र सरकार को आदेश दिया कि वह सेना की उन सभी महिला अधिकारियों को तीन महीने के भीतर स्थायी कमीशन प्रदान करे जिन्होंने इसके लिए आवेदन किया है। कोर्ट ने यह भी कहा कि महिलाओं को कमांड पोस्टिंग पर नियुक्ति दिए जाने पर पूर्ण प्रतिबंध नहीं लगाया जा सकता।
 
न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ ने केंद्र सरकार की उस दलील को खारिज कर दिया जिसमें शारीरिक सीमाओं और सामाजिक चलन का हवाला देते हुए सेना में महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन नहीं देने की बात कही गई थी। कोर्ट ने कहा कि यह दलील परेशान करने वाली और समानता के सिद्धांत के विपरीत है।
 
पीठ ने कहा कि अतीत में महिला अधिकारियों ने देश का मान बढ़ाया है और सशस्त्र सेनाओं में लिंग आधारित भेदभाव को समाप्त करने के लिए सरकार की मानसिकता में बदलाव जरूरी है।
 
कोर्ट ने कहा कि महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन देने के 2010 के, दिल्ली हाईकोर्ट के निर्णय पर रोक न होने के बावजूद केंद्र सरकार ने पिछले एक दशक में सेना में महिलाओं को स्थायी कमीशन देने में आनाकानी की।
 
गौरतलब है कि दिल्ली हाईकोर्ट ने महिला अधिकारियों को सेना में स्थायी कमीशन देने का आदेश 2010 में दिया था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख डोनाल्ड ट्रंप का भारत दौरा, 3 घंटे के लिए 100 करोड़ का खर्चा, शिवसेना ने मोदी सरकार पर उठाए सवाल