सहायिका को ग्रीन कार्ड दिलाने के लिए आव्रजन अटॉर्नी ने धोखाधड़ी की, मिली सजा

अमेरिका के एक अटॉर्नी ने अपनी पाकिस्तानी सहायिका को ग्रीन कार्ड दिलाने के लिए गैरकानूनी तरीके से उसकी शादी भारतीय मूल के एक अमेरिकी नागरिक से करा दी। अब उस अटॉर्नी को 6 महीने जेल की सजा सुनाई गई है।
 
अमेरिका के आव्रजन एवं सीमा शुल्क प्रवर्तन विभाग ने बताया कि डलास के 48 वर्षीय आव्रजन अटॉर्नी बिलाल अहमद खलीक ने अन्य लोगों के साथ मिलकर 38 वर्षीय पाकिस्तानी नागरिक आमना चीमा और भारतीय मूल के एक अमेरिकी नागरिक के बीच गैरकानूनी तरीके से शादी  कराई।
 
भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक की पहचान जाहिर नहीं की गई है। चीमा इस मामले में पहले  ही अपना अपराध स्वीकार कर चुकी है। विवाह को लेकर जो समझौता हुआ था उसके मुताबिक  चीमा से शादी करने के बदले अमेरिकी नागरिक को 745 डॉलर का भुगतान किया गया। दोनों  पक्षों के बीच यह चर्चा भी हुई कि चीमा के अमेरिका की स्थायी निवासी बनने तक उन दोनों को  कितने समय तक विवाहित बने रहने की जरूरत है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख ये किस देश-समाज के लोग हैं?