सुशील का कोई जवाब नहीं : सतपाल

सोमवार, 13 अगस्त 2012 (01:24 IST)
WD
द्रोणाचार्य अवॉर्डी महाबली सतपाल अपने शिष्य सुशील कुमार के लंदन ओलिंपिक में रजत पदक जीतने से इतने गदगद थे कि उन्होंने कह डाला कि सुशील का कोई जवाब नहीं।

सतपाल ने लंदन से फोन पर कहा सुशील ने तो इतिहास ही रच दिया। इस लड़के का वाकई कोई जवाब नहीं है। इसने क्या शानदार ढंग से कुश्तियां लड़ी और मजबूत पहलवानों को पटखनी दी।

उन्होंने कहा हमने देशवासियों से जो वादा किया था उसे पूरा कर दिखाया। हमने वह कर दिखाया जो अब तक असंभव माना जाता था। सुशील ने 66 किग्रा वर्ग में रजत पदक हासिल किया जबकि सतपाल के ही एक अन्य शिष्य योगेश्वर दत्त ने 60 किग्रा में कांस्य पदक जीता।

द्रोणाचार्य अवॉर्डी ने कहा कि सुशील को कल वजन घटाने की कोशिश में उल्टी लग गई थी और आज भी सेमीफाइनल के बाद जो तीन घंटे का ब्रेक हुआ था उसमें उसका पेट कुछ गड़बड़ हो गया था। इसके बावजूद उसने इन परेशानियों को खुद पर हावी नहीं होने दिया और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। उसने अपने हर मुकाबले को बहुत ही अच्छे ढंग से लड़ा।

सतपाल ने कहा कि लगातार दो ओलिंपिक में दो पदक जीतकर सुशील ने इतिहास रच दिया है। हालांकि उन्हें थोड़ा-सा अफसोस है कि वह स्वर्ण पदक से चूक गया। इसके बावजूद उन्हें अपने इस शिष्य पर पूरा गर्व है।

उन्होंने साथ ही कांस्य जीतने वाले योगेश्वर दत्त की भी तारीफ करते हुए कहा कि उसने भी अपनी कुश्तियां बेहतरीन लड़ी। वह टॉस में थोड़ा दुर्भाग्यशाली रहा वरना वह भी फाइनल तक पहुंच सकता था।

सतपाल ने अपने तीसरे शिष्य अमित कुमार की भी तारीफ की और कहा कि उसने भी अपने मुकाबले बेहतर ढंग से लड़े। उन्होंने कहा कि सुशील और योगेश्वर के ओलिंपिक में पदक जीतने के बाद मुझे पूरा यकीन है कि भारतीय कुश्ती यहां से नई ऊंचाई हासिल करेगी। (वार्ता)
webdunia-ad

वेबदुनिया पर पढ़ें