अक्षय नवमी 2019 मुहूर्त : इन 20 चीजों के साथ ऐसे करें पूजन, महालक्ष्मी के साथ विष्णु भी देंगे शुभ वरदान

अक्षय नवमी पूजन सामग्री 
1.आंवले का पौधा या पेड़ 
2.आंवले के पत्ते 
3. आंवला फल, 
4. तुलसी के पत्ते 
5.तुलसी का पौधा गमले में, 
6. कलश, 
7. कपूर
8. गंगाजल, 
9.कुमकुम,हल्दी,सिंदूर,
10.  अबीर,
11. गुलाल, 
12.चावल,
13.साड़ी-ब्लाउज 
14. दान के लिए अनाज
15. नारियल,
16. सूत का धागा, 
17. धूप, 
18. दीप
19. नैवेद्य, 
20. श्रृंगार का सामान 
 
 
अक्षय नवमी पूजन विधि
 
अक्षय नवमी के दिन प्रात:काल स्नानादि के बाद स्वच्छ वस्त्र धारण कर महिलाओं को आंवला के पेड़ की पूजा करनी चाहिए। 
 
इस दिन हो सके तो पूरे परिवार को आंवला के पेड़ के नीचे बैठकर भोजन करना चाहिए। 
 
यदि आपके घर के आसपास आंवले का पेड़ नहीं है तो आप आंवले के छोटे पौधे के पास ही पूजा कर सकते हैं और फिर भोजन कर सकते हैं।
 
अक्षय नवमी के दिन आंवले के पेड़ की पूजा करना और उसकी परिक्रमा करने का विशेष प्रावधान है।
 
इस दिन महिलाएं वृक्ष का दूध से अभिषेक करती हैं और पूरे विधि-विधान से पूजन करती हैं। 
 
श्रृंगार का सामान, कपड़े किसी गरीब या ब्राह्मण को दान करती हैं। 
 
नवमी के दिन आंवले के पेड़ पर सफेद या लाल मौली के धागे को लेकर महिलाएं 8 या 108 बार परिक्रमा करें। 
 
इस परिक्रमा के बाद महिलाएं श्रृंगार का सामान, कुमकुम, हल्दी, सिंदूर, अबीर, गुलाल, चावल, नारियल आदि वस्तुओं को आवंले के पेड़ पर चढ़ाएं।
 
इसके बाद आंवले के पेड़ से श्रृंगार का सामान लेकर सुहागिन को दान में दें।
 
आंवले के पेड़ के नीचे बैठकर व्रतकथा सुनें और तत्पश्चात परिवार संग बैठकर भोजना करें। 
 
 
अक्षय नवमी शुभ मुहूर्त 
 
इस बार अक्षय नवमी 05 नवंबर 2019, मंगलवार को मनाई जा रही है।
 
नवमी तिथि प्रारंभ - 04:57 बजे (05 नवंबर 2019)
 
नवमी तिथि समाप्त - 07:21 बजे (06 नवंबर 2019)
 
पूजा का मुहूर्त  
 
सुबह 06 बजकर 36 मिनट से दोपहर 12 बजकर 04 मिनट तक।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अक्षय नवमी 2019 : कार्तिक माह का अमर फल है आंवला, जानिए आंवला नवमी का महत्व