Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

बिहार में बाढ़ का कहर, 24 घंटे में 27 लोगों की डूबने से मौत

webdunia
बुधवार, 5 अगस्त 2020 (22:59 IST)
पटना। बिहार में खगड़िया, सारण, पूर्वी चंपारण, सहरसा, दरभंगा और मधेपुरा जिले में पिछले 24 घंटों के दौरान 27 लोगों की डूबकर मौत हो गई।  खगड़िया में नौ, सारण में छह, पूर्वी चंपारण में पांच, सहरसा में तीन तथा दरभंगा और मधेपुरा जिले में दो-दो लोग की डूबकर मौत हुई है।
 
खगड़िया से मिली जानकारी के अनुसार जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र में मंगलवार की देर शाम एकनिया गांव के निकट नौका अनियंत्रित होकर गंगा नदी की उपधार में पलट गई। इस दुर्घटना में डूबे नौ लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं। मृतकों की पहचान सुशांत कुमार (15) शिवानी कुमारी (14), अंकुश कुमार (10), विशाखा देवी (45), रूपम देवी (25), दुलारी देवी (25) रेखा देवी (25), अभिमन्यु कुमार (15) और रवीन्द्र ठाकुर (38) के रूप में की गई है।

छपरा से प्राप्त समाचार के अनुसार सारण जिले में अलग-अलग घटनाओं में पिछले 24 घंटों के दौरान 6 लोगों की बाढ़ के पानी में डूबकर मौत हो गई। जिले के मढ़ौरा थाना क्षेत्र के नगर पंचायत के निवासी नीतेश कुमार (19) की आज बाढ़ के पानी में डूबकर मौत हो गई, वहीं जिले के पानापुर थाना क्षेत्र के टोटहां जगतपुर गांव निवासी निजामुद्दीन का 30 वर्षीय पुत्र रुस्तम अली की भी बाढ़ के पानी में डूबने से मौत हो गई है।

इसी तरह जिले के नगरा पुलिस आउट पोस्ट क्षेत्र के नगरा गांव में पानी से भरे खड्ड में सीवान जिला निवासी अलाउद्दीन मियां का 12 वर्षीय पुत्र अरमान आलम की डूबकर मौत हो गई। मढ़ौरा प्रखंड कार्यालय के समीप अवारी गांव निवासी विनोद महतो (28) की मंगलवार की देर रात बाढ़ के पानी में डूबने से मौत हो गई है।
 
सूत्रों ने बताया कि जिले के मकेर थाना क्षेत्र में बाढ़ के पानी में डूबे चिकित्सक और कंपाउंडर का शव बुधवार को बरामद कर लिया गया है। बनियापुर थाना क्षेत्र निवासी होमियोपैथ चिकित्सक डॉ. योगेश कुमार (45) तथा मढ़ौरा थाना क्षेत्र निवासी कपाउंडर विक्की कुमार (28) मकेर थाना क्षेत्र के सर्वोदय बाजार पर क्लिनिक चलाते थे। दोनों मंगलवार को बाढ़ के पानी भरे रास्ते से सर्वोदय बाजार जा रहे थे तभी तेज बहाव पानी की धारा में बह गए थे। (वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

बैरूत ब्लास्ट में मरने वालों की संख्या 80 हुई, 4 हजार से ज्यादा घायल, कई इमारतें तबाह