Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कानपुर देहात में गरीबों के आशियाने पर चला बुलडोजर, न्याय के लिए जिलाधिकारी के पास पहुंचा परिवार

हमें फॉलो करें webdunia

अवनीश कुमार

बुधवार, 13 जुलाई 2022 (18:48 IST)
कानपुर देहात। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार जहां गरीबों के रहने के लिए आवास योजना के तहत आवास आवंटित करने की मुहिम चला रहा है और लगातार योगी सरकार गरीबों के आशियाने को ना उजाड़ने की बात कहते हुए भी नजर आते हैं लेकिन ठीक इसके उलट कानपुर देहात की भोगनीपुर तहसील में 2016 में समाजवादी सरकार में आवंटित गरीब के आवास पर बिना किसी सूचना के बुलडोजर चला दिया गया और उसके सामान को तालाब में फेंक दिया।जिसके बाद हताश और निराश गरीब परिवार जिलाधिकारी की चौखट पर न्याय की गुहार लगाने के लिए पहुंच गया है और पूरा परिवार जिलाधिकारी की चौखट पर बैठ न्याय की गुहार लगा रहा है।

सपा सरकार में हुआ था आवंटित : कानपुर देहात के भोगनीपुर तहसील के बेड़ामऊ में रहने वाले रामविलास थे भोगनीपुर उप जिलाधिकारी व पुलिस पर आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देते हुए बताया है कि 2016 में समाजवादी पार्टी की सरकार में उसे कॉलोनी आवंटित हुई थी जिसमें वह परिवार के साथ रहता था। उसके अलावा उसके पास न तो जमीन और न ही अन्य कोई मकान है लेकिन फिर भी बिना सुने भोगनीपुर के उप जिलाधिकारी ने उसकी कॉलोनी को गिरा दिया।

रामविलास ने आरोप लगाते हुए कहा कि न ही उसको कोई नोटिस दी गई और न ही कोई जानकारी एकदम से उप जिलाधिकारी फोर्स के साथ आए और बुलडोजर से उसकी आवंटित सरकारी कॉलोनी को गिरा दिया। हर मौके पर मौजूद उसके सामान को तालाबों में फेंकवा दिया। पीड़ित रामविलास ने कहा कि उसकी कॉलोनी दबंगों के कहने पर उप जिलाधिकारी के द्वारा गिराई गई है। उसके सामने बड़ी समस्या आ गई है कि वह अपने परिवार को कहां लेकर जाए अब कहां रखें।

उठने लगे सवाल : आशियाना उजड़ने के बाद जिलाधिकारी की चौखट पर पहुंचे रामविलास के साथ आए ग्रामीणों ने नाम न छापने की गुहार लगाते हुए बताया कि भोगनीपुर तहसील में कई तालाबों, सरकारी जमीन पर दबंगों ने कब्जा कर रखा है जिसकी जानकारी होने के बावजूद भी उप जिलाधिकारी भोगनीपुर लगातार अनदेखी करते हैं।

लेकिन गरीब के आशियाना को उजाड़ने में वह तनिक भी देर नहीं लगाते हैं।ग्रामीणों ने तो यहां तक आरोप लगाया कि कई सरकारी जमीन पर कई नेताओं के भी कब्जे हैं, लेकिन वह तहसील में बैठे उप जिलाधिकारी व अधिकारियों को दिखाई नहीं पड़ते हैं।

क्या बोले अधिकारी : पूरे मामले को लेकर एडीएम प्रशासन ने बताया कि परिवार के द्वारा जो भी आरोप लगाए गए हैं उनकी निष्पक्ष जांच कराई जाएगी और जो भी दोषी होगा उसके ऊपर कार्यवाही होगी लेकिन उप जिलाधिकारी भोगनीपुर से भी बातचीत की गई है तो उनके द्वारा बताया गया है कि खलिहान की जमीन पर कॉलोनी बनी हुई थी।सभी नियमों का पालन करते हुए कॉलोनी को हटाया गया है और उप जिलाधिकारी भोगनीपुर के द्वारा यह भी बताया गया है कि शिकायतकर्ता के पास दूसरा मकान भी है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Sri Lanka : उपद्रवियों के उत्पात से नाराज हुए PM विक्रमसिंघे, सेना को कार्रवाई के आदेश