Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

महाराष्ट्र में 'भारत जोड़ो यात्रा' के दौरान कांग्रेस सेवादल के पदाधिकारी की मौत

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 8 नवंबर 2022 (17:40 IST)
नांदेड़ (महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले में मंगलवार को कांग्रेस सेवादल के एक पदाधिकारी की पार्टी की 'भारत जोड़ो यात्रा' के दौरान मृत्यु हो गई। पार्टी के नेताओं ने यह जानकारी दी। इस यात्रा का नेतृत्व कर रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सेवादल के महासचिव कृष्ण कुमार पांडेय के निधन पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि पांडेय ने अंतिम क्षण तक राष्ट्रीय ध्वज को थामे रखा।
 
वरिष्ठ कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा कि पांडेय तिरंगा थामे हुए थे। पांडेय यात्रा में रमेश और पार्टी के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह के साथ चल रहे थे। रमेश ने ट्वीट किया कि कुछ मिनटों के बाद जैसा कि चलन है, उन्होंने झंडा एक सहयोगी को सौंप दिया और पीछे चले गए। इसके बाद वे बेहोश होकर गिर पड़े और उन्हें एम्बुलेंस से अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।
 
रमेश ने कहा कि वे एक पक्के कांग्रेसी थे और नागपुर में आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेकव संघ) से मुकाबला करते थे। यह सभी यात्रियों के लिए सबसे दुखद घड़ी है। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि यात्रियों, महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी और राहुल गांधी ने आज मंगलवार दोपहर नांदेड़ जिले के अटकली गांव में यात्रा पड़ाव स्थल पर कृष्ण कुमार पांडेय को अंतिम विदाई दी।
 
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने भी पांडेय की मृत्यु पर शोक जताया और कहा कि पार्टी ने एक निष्ठावान योद्धा खो दिया है। 'भारत जोड़ो यात्रा' सोमवार रात महाराष्ट्र पहुंची और मंगलवार को अपने 62वें दिन में प्रवेश कर गई।
 
सोमवार की रात तेलंगाना से यात्रा के महाराष्ट्र में प्रवेश करने के कुछ घंटों बाद राहुल गांधी गुरु नानक जयंती पर गुरुद्वारा यादगरी बाबा जोरावर सिंहजी फतेह सिंहजी गए। पार्टी ने ट्वीट किया कि गुरुद्वारे में राहुल गांधी ने सद्भाव और समानता के लिए प्रार्थना की।
 
मंगलवार को महाराष्ट्र कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता भी यात्रा में शामिल हुए। इन नेताओं में पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार शिंदे और अशोक चव्हाण, पार्टी की प्रदेश इकाई के प्रमुख नाना पटोले के अलावा बालासाहेब थोराट, माणिकराव ठाकरे और नसीम खान भी शामिल थे।(भाषा)
 
Edited by: Ravindra Gupta

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Chandra Grahan 2022 : शुरू हुआ 2022 का अंतिम चन्द्रग्रहण, अंधविश्वासों को लेकर खगोलविदों ने कही यह बात