मोबाइल दुकान खोलने के लिए पति ने 10 लाख मांगे, मना किया तो घर से निकाला

शनिवार, 27 अक्टूबर 2018 (21:00 IST)
इंदौर। एक दहेज लोभी पति ने मोबाइल की दुकान खोलने के नाम पर पत्नी से अपने मायके से 10 लाख रुपए लाने का दबाव बनाया, जब पत्नी ने पैसा लाने में विवशता दिखाई तो उसके साथ बुरी तरह मारपीट की गई और घर से निकाल दिया गया। 
 
टवलई (धार) निवासी चेतना जायसवाल ने इंदौर सुखलिया निवासी पति राकेश, सास राधा और ससुर शरद के खिलाफ महिला थाने में केस दर्ज कराया है। चेतना का आरोप है कि सुसराल के लोग उसे दहेज के लिए बुरी तरह प्रताड़ित करते हैं। 
 
चेतना ने बताया कि 2011 में उसकी शादी मोबाइल डीलरशिप का काम करने वाले राकेश के साथ हुई थी। दो माह तक सब कुछ ठीक चला, लेकिन उसके बाद पति और ससुराल वाले दुकान खोलने के नाम पर 10 लाख रुपए की मांग करने लगे। जब चेतना ने 10 लाख रुपए अपने मायके से लाने से मना कर दिया तो सास-ससुर ताना मारने के और बात-बात पर फटकारने लगे। पति ने भी मारना-पीटना शुरू कर दिया। 
 
इतना ही नहीं जब ससुरालवालों को पैसे नहीं मिले तो उन्होंने मारपीट कर चेतना को घर से निकाल दिया। करीब पांच साल बाद जब गत 7 अक्टूबर को पीड़िता अपने माता-पिता के साथ समझौता करने पहुंची तो उसके पूरे परिवार को ससुराल वालों ने मारपीट कर भगा दिया।
 
चेतना ने आरोप लगाया कि पति राकेश के शादी से पहले एक महिला से नाजायज संबंध थे। इस वजह से भी वह दबाव बनाकर चेतना को घर से निकालना चाहता था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING