Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

जयपुर हुआ पानी-पानी, सड़कें नदी में तब्दील, वाहन डूबे

webdunia
शुक्रवार, 14 अगस्त 2020 (19:00 IST)
जयपुर। मानसून के सक्रिय होते ही राजस्थान (Rajasthan News) की राजधानी जयपुर (Jaipur News) में जमकर बारिश (rain) हुई। शुक्रवार की सुबह पिंक सिटी में रहने वालों का स्वागत तेज फुहारों ने किया लेकिन बाद में इन्हीं फुहारों ने प्रचंड रूप धारण कर लिया। हालत यह है कि मूसलाधार बारिश से सड़कों पर पानी भर गया और जनजीवन पूरी तरह अस्तव्यस्त हो गया।
 
जोरावर सिंह गेट में भी भारी जल जमाव था जिसकी वजह से कांग्रेस विधायकों की बस फंस गई। इस बस को पुलिस की मदद से सुरक्षित निकाला गया और विधायकों ने राहत की सांस ली।
 
शुक्रवार की सुबह 5 बजे से बारिश का जो सिलसिला प्रारंभ हुआ वह लगातार 12 बजे तक जारी रहा। जमकर बरसे मेघों ने पूरे शहर को पानी-पानी कर डाला। भारी बारिश के कारण शहर के निचले इलाकों में दो-तीन फुट तक पानी भर गया और सड़कें दरिया बन गई। मूसलाधार बारिश के कारण कई लोग अपने घर से नहीं निकल पाए और जो निकले वे जगह-जगह भरे पानी में फंस गए। 
webdunia
कई कारें और दोपहिया वाहन पानी में डूब गई तो कई वाहन खराब होकर सड़क पर खड़े नजर आए। शहर के चारदीवारी में चौड़ा रास्ता, चांदपौल सहित कई इलाके पानी से जलमग्न हो गए, जिसके कारण वाहन डूबे नजर आए।
 
शहर में आरटीओ ऑफिस, रोडवेज मुख्यालय, रेलवे डीआरएम ऑफिस, खासा कोठी, सर्किट हाउस, हाथी गांव, जल महल के सामने का क्षेत्र, मालवीयनगर, मानसरोवर, अजमेर रोड़, सीकर रोड़, चौमू पुलिया, झोटवाड़ा में खातीपुरा पुलिया के पास एवं कुमावत कॉलोनी सित कई कॉलोनियां जलमग्न हो गई। इससे वाहनों की लम्बी लाईनें लग गई और यातायात प्रभावित हुआ।
webdunia
मूसलाधार बरसात के कारण झोंटवाड़ा क्षेत्र की कुमावत कॉलोनी एवं खातीपुरा पुलिया के पास न्यू कॉलोनी में कई कई घरों में पानी घुस गया। इससे लोगों को काफी परेशानी हुई। इसी तरह कई कार्यालयों में बरसात का पानी घुस गया है। सुबह से दोपहर तक बरसात के जारी रहने से लोग रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड तथा जहां मौका मिला, वहां खड़े रहकर अपने को बारिश से बचाया।
webdunia
बारिश के चलते जयपुर प्रशासन ने आपात नंबर जारी किए तथा टीमें बनाकर बचाव अभियान शुरु किया गया। निचले इलाकों में भरे पानी में फंसे लोगों की मदद की जा रही है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

आजादी की 43वीं वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर सचिन ने बनाया था अपना पहला शतक