Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

हाईप्रोफाइल आयकर छापे में 281 करोड़ के कैश रैकेट का खुलासा, 14 करोड़ से अधिक नकद बरामद

webdunia

विशेष प्रतिनिधि

भोपाल। लोकसभा चुनाव के समय मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़, करीबी आरके मिगलानी सहित कई अन्य लोगों के छापे में करोड़ों की बेनामी संपत्ति का खुलासा हुआ है।

आयकर विभाग ने पूरी कार्रवाई को लेकर जो पहला आधिकारिक बयान जारी किया है, उसमें 281 करोड़ रुपए के बेहिसाबी कैश रैकेट का पता चलना बताया गया है। ये रकम राजनीति, व्यापार और सरकारी सेवाओं से जुड़े लोगों के जरिए इकट्ठा होने का भी पता चला है।
 
आयकर छापे के दौरान हवाला के जरिए एक राजनीतिक दल को 20 करोड़ रुपए ट्रांसफर करने का भी पता चला है, जिसे हाल में ही पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी के तुगलक रोड स्थित घर से पार्टी मुख्यालय भेजा गया था। इसके साथ ही छापे में 14 करोड़ 60 लाख रुपए नकद, 252 बोतल महंगी शराब, कुछ हथियार भी बरामद किए गए हैं।
 
आयकर विभाग की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि दिल्ली में छापे की कार्रवाई में 230 करोड़ के अघोषित लेनदेन, फर्जी बिलिंग के जरिए 242 करोड़ रुपए के लेनदेन के दस्तावेज, टैक्स हैवन में 80 कंपनियों का भी पता चला है। यही नहीं, दिल्ली के पॉश इलाके में कई बेनामी संपत्ति के भी दस्तावेज बरामद किए है।
 
आयकर विभाग की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि 4 राज्यों में 52 ठिकानों पर पूरी कार्रवाई हुई। भोपाल, इंदौर, नोएडा और गोवा में हुई इस कार्रवाई में विभाग के 300 अफसर शामिल थे। 
 
प्रवीण कक्कड़ के ठिकानों पर कार्रवाई पूरी : इंदौर में मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी के ठिकानों पर 42 घंटे से अधिक आयकर विभाग के अफसरों ने छानबीन कार्रवाई की। सोमवार देर रात तक चली कार्रवाई के दौरान टीम ने बड़ी मात्रा में दस्तावेज जब्त किए। आयकर की कार्रवाई के बाद प्रवीण कक्कड़ के घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

IPL: केएल राहुल के सामने हैदराबाद पस्त, पंजाब की 1 गेंद शेष रहते 6 विकेट से रोमांचक जीत