तालाब किनारे पीपल के पेड़ पर चढ़े तेंदुए ने ग्रामीणों में फैलाई दहशत

वेबदुनिया न्यूज डेस्क

रविवार, 26 जुलाई 2020 (20:31 IST)
राजनांदगांव। जंगल कट रहे हैं और इंसानों द्वारा हरियाली को सफा करके सीमेंट कंक्रीट के नए जंगल बनाए जा रहे हैं, ऐसे में बेचारे वन्य पशु कहां जाएं? जाहिर है कि वे शहरों की तरफ कूच करने पर बेबस हैं। यहां के साल्वेवारा क्षेत्र में स्थित एक तालाब के किनारे नहाने गए ग्रामीणों में उस वक्त दहशत फैल गई, जब जंगलों से भटकता हुआ एक तेंदुआ (Leopard) आया और वह पीपल के पेड़ पर चढ़ गया।
 
यह वा‍कया रविवार को हुआ। यहां पर कुछ ग्रामीण नहाने के लिए तालाब पर गए। वे पानी में गोता लगाते उससे पहले उन्होंने देखा कि समीप पीपल के पेड़ पर पत्तों की आड़ में एक बड़ा तेंदुआ छुपा हुआ बैठा है। तेंदुए को देखते ही ग्रामीणों की घि‍घी बंध गई। उन्होंने तुरंत इसकी सूचना वन विभाग के अधिकारियों को दी।
 
वन विभाग के अधिकारी जब यहां पहुंचे, तब भी तेंदुआ पीपल की डाल पर आराम फरमा रहा था। ग्रामीणों ने बताया कि तेंदुए ने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया है बल्कि भीड़ को देखकर वह खुद ही घबरा गया है। कभी वो इस डाल पर छलांग लगाता तो कभी दूसरी डाल पर।
 
वन विभाग के अधिकारियों ने ग्रामीणों को सलाह दी कि वे भीड़ बढ़ाने के बजाय अपने अपने घरों में चलें जाएं ताकि तेंदुआ शांत हो सके। उन्होंने कहा कि जब रात होगी, तब तेंदुआ अपने आप पीपल के पेड़ से उतरकर जंगल में चला जाएगा। हालांकि अधिकारी ग्रामीणों को रवाना करने के बाद तेंदुए की हर हरकत पर नजर रखे हुए थे।।
 
पिछले दिनों इंसानों द्वारा वन्य जीवों पर हुई क्रूर हरकत (गर्भवती हथिनी को मारना, बंदर की फंदा लगाकर हत्या करना) ने पूरे देश में सनसनी फैला दी थी। सोशल मीडिया पर जानवरों के साथ क्रूरता के वायरल हुए वीडियो ने भी देश का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया था। इसके विरोध में कई बॉलीवुड सितारे उतरे थे। अनुष्का शर्मा ने तो इसके लिए मुहीम तक चलाई थी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख सोमवार को 3 हाईटेक Covid-19 टेस्ट लैब का उद्घाटन करेंगे PM मोदी, रोजाना हो सकेगी 10 हजार सैम्पल की जांच