Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Ground Report : अहमदाबाद के पतंग बाजार में उड़ीं सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

webdunia
बुधवार, 13 जनवरी 2021 (22:29 IST)
-वेबदुनिया टीम
अहमदाबाद। मकर संक्रांति से एक दिन पहले बुधवार को अहमदाबाद शहर में पतंग और मांझा खरीदने के लिए रायपुर और जमालपुर के बाजारों में बड़ी संख्या में लोग इकट्ठे हो गए। यहां पतंग खरीदने वाले लोगों के बीच कोई सोशल डिस्टेंसिंग नहीं थीं। इतना ही नहीं कई लोग बिना मास्क भी नजर आए।

पतंग खरीदने के लिए लोग शाम 5 बजे से ही बाजार में आने लगे थे हैं और दुकानें लगभग रात रात 9 बजे तक खुली रहीं। इतना ही नहीं देर रात तक पतंग खरीदने वालों की भीड़ दुकानों पर देखी गई। सबसे दुखद बात यह थी कि यहां पर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई गईं। वहीं, बहुत से लोगों ने मास्क भी नहीं लगा रखे थे। 
webdunia
अधिक कीमत देकर पतंगों की खरीद : रायपुर पतंग बाजार में एक ग्राहक ने कहा कि पतंगों की कीमत ‍पिछले साल की तुलना में इस बार अधिक है। उन्होंने बताया कि पतंगबाजी का बहुत शौक है, इसलिए वे ऊंची कीमतों के बावजूद पतंग खरीदने आए हैं। मांझे की कीमत भी अधिक है।

बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले : बाजारों में बढ़ती भीड़ के मद्देनजर आशंका जताई जा रही है कि एक बार फिर कोरोना के मामले बढ़ सकते हैं। दुकानों पर उमड़ी भीड़ को देखकर लग रहा था कि मानो कोरोना संक्रमण है ही नहीं। बाजार में लोग कोरोना प्रोटोकॉल का खुला उल्लंघन कर रहे थे। 
 
दिवाली पर बढ़े थे कोरोना केस : दिवाली के समय भी बाजारों में अच्छी-खासी भीड़ जुटी थी। उस समय भी नियमों की अनदेखी की गई थी। उसके बाद अचानक से कोरोना के मामले भी बढ़ गए थे।
webdunia
इसी को ध्यान में रखकर गुजरात उच्च न्यायालय में याचिका दायर की गई थी ताकि बाजार में भीड़ न जुटे। हालांकि सरकार ने संक्रांति उत्सव के दौरान नियमों का पालन करने का पूरा भरोसा दिया था, लेकिन भीड़ देखकर ऐसा नहीं लग रहा था कि सरकार ने इसके लिए कोई इंतजाम किया है। आश्चर्य की बात तो यह है कि पूरा बाजार बाजार खड़िया पुलिस स्टेशन के ठीक बगल में है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के 5 साल पूरे, कृषि मंत्री बोले- अब तक जुड़े 25 करोड़ से ज्यादा किसान