Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

16 घंटों में 7 आतंकी ढेर, इनमें अंसार गजवात-उल-हिन्द का कमांडर भी शामिल

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
webdunia

सुरेश एस डुग्गर

शुक्रवार, 9 अप्रैल 2021 (12:47 IST)
जम्मू। सुरक्षाबलों ने 16 घंटों में कश्मीर में 7 आतंकियों को मार गिराया है। इनमें अंसार गजवात-उल-हिन्द का कमांडर भी शामिल है। शुक्रवार को अवंतीपोरा के त्राल इलाके में 2 आतंकियों को मार गिराया है जबकि 2 से 3 के साथ मुठभेड़ जारी थी। इस बीच पुलवामा में गुरुवार देर रात हुई मुठभेड़ में 3 आतंकी तो मारे गए थे, पर 2 जान बचाकर एक मस्जिद में जा घुसे थे, जहां से वे सुरक्षाबलों पर गोलियां बरसा रहे थे और बाद में उन्हें मार गिराया गया।
 
आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने त्राल मुठभेड़ के दौरान अंसार गजवात-उल-हिन्द एजीएच के कमांडर इम्तियाज शाह के मारे जाने की पुष्टि की है। अधिकारियों ने बताया कि अवंतीपोरा के त्राल के नौवुग इलाके में आतंकियों से शुक्रवार सुबह तलाशी अभियान के दोरान मुठभेड़ आरंभ हुई तो 2 ही घंटों में 2 आतंकियों को मार गिराया गया। सुरक्षाधिकारी कहते हैं कि 2 से 3 आतंकी अभी भी सुरक्षा घेरे में हैं जिनसे मुठभेड़ चल रही है।

 
इस बीच पुलवामा से खबर है कि 2 आतंकी गुरुवार को आरंभ हुई मुठभेड़ से बचकर भाग निकले तो साथ वाली मस्जिद में जा घुसे थे। अब वे वहां से सुरक्षाबलों पर गोलियां बरसा रहे थे। कुछ घंटों की मुठभेड़ के बाद उन्हें मार गिराया गया। हालांकि पूरी रात गोलीबारी इसलिए रुकी रही थी, क्योंकि सुरक्षाबल नहीं चाहते थे कि मस्जिद को कोई नुकसान पहुंचे। इसकी खातिर आतंकी के भाई को भी मस्जिद के भीतर बातचीत के लिए भेजा गया था, पर प्रयास नाकाम रहे थे।
 
इस मुठभेड़ में 3 अन्य आतंकियों को सुरक्षाबलों ने गुरुवार रात को ही ढेर कर दिया था। इन आतंकियों को आत्मसमर्पण के लिए राजी करने के लिए सुरक्षाबलों ने एक आतंकी के भाई और स्थानीय इमाम को मस्जिद में भेजा था। इससे पहले मुठभेड़ में सेना का 1 अफसर और 3 जवान भी घायल हो गए थे।

 
इस बीच प्रशासन ने एहतियात के तौर पर शोपियां व पुलवामा में इंटरनेट मोबाइल सेवा को बंद कर दिया है। एजीएच को जम्मू-कश्मीर में अल कायदा का संगठन माना जाता है। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार और सेना की विक्टर फोर्स के जीओसी मेजर जनरल राशिम बाली अभियान की निगरानी कर रहे हैं। मुठभेड़ स्थल के पास जामिया मस्जिद है और सुरक्षाबल पूरा प्रयास कर रहे थे कि मस्जिद को कोई नुकसान न पहुंचे।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
कोरोना काल में परीक्षा, प्रियंका का CBSE बोर्ड पर बड़ा आरोप