Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

सलमान खुर्शीद के कॉटेज में हुई आगजनी, तोड़फोड़ और फायरिंग की घटना की जांच अब एसओजी प्रभारी करेंगे

webdunia

एन. पांडेय

शनिवार, 20 नवंबर 2021 (12:34 IST)
नैनीताल। उत्तराखंड के नैनीताल जिले के रामगढ़ क्षेत्र में स्थित प्यूडा गांव में सलमान खुर्शीद के कॉटेज में हुई आगजनी, तोड़फोड़ और फायरिंग की घटना की जांच अब एसओजी प्रभारी को सौंपी गई है। अब तक जांच सब इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी कर रहे थे। गुरुवार को पकड़े गए 4 आरोपियों के बयान के आधार पर 14 से 15 संदिग्धों की पहचान में पुलिस अभी जुटी हुई है।
 
सलमान खुर्शीद की किताब 'सनराइज ओवर अयोध्या' में हिन्दुओं के लिए की गई टिप्पणी से नाराज होकर उनके कॉटेज के शीशे तोड़ दिए और घर के दरवाजे पर आग लगा दी थी। पुलिस ने केयरटेकर की तहरीर पर राकेश कपिल समेत 20 अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। 4 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। लेकिन मुख्य आरोपी जिसका नाम मुकदमे में खोला गया है, की अब तक गिरफ्तारी नहीं हुई है।
 
मामला हाईप्रोफाइल होने के चलते पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है, साथ ही मामले की जांच एसओजी प्रभारी धर्मवीर सिंह सोलंकी को सौंप दी गई है। इससे पहले रामगढ़ चौकी इंचार्ज मनोज आर्य मामले की जांच कर रहे थे। पुलिस टीमें अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दे रही हैं। 
भवाली कोतवाली में गिरफ्तार चारों आरोपियों ने पुलिस को बताया है कि वे कुंदन चिलवाल के आह्वान पर कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के घर पर गए थे।
 
उन्होंने सिर्फ पुतला फूंका और नारेबाजी की थी। इस दौरान उन्होंने सलमान खुर्शीद के केयरटेकर के साथ गाली-गलौज और अभद्रता की थी। आवेश में आकर खुर्शीद के मकान पर आगजनी और फायरिंग कर दी। चारों ने बताया कि मुकदमा दर्ज होने और सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने पर वे अपने वकील के पास हल्द्वानी जा रहे थे लेकिन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मामले की जांच एसओजी प्रभारी को सौंपी गई है। पुलिस कह रही है कि पुलिस बेवजह किसी भी निर्दोष को गिरफ्तार नहीं करेगी।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दारू पार्टी में सांप भूनकर खा गए, अस्पताल में कराना पड़ा भर्ती