महाराष्‍ट्र में बंद के दौरान पथराव, 3 हजार से अधिक हिरासत में

शुक्रवार, 24 जनवरी 2020 (17:50 IST)
संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और देशभर में प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ दलित नेता प्रकाश अंबेडकर की पार्टी वंचित बहुजन अगाड़ी (वीबीए) के शुक्रवार को आहूत 'महाराष्ट्र बंद' के मद्देनजर राज्यभर में 3 हजार से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया, वहीं बंद के दौरान मुंबई में एक बेस्ट बस पर पत्थरबाजी की गई, जिससे बस का चालक घायल हो गया। हालांकि पथराव में यात्रियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा। चालक को गोवंडी के शताब्दी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

खबरों के मुताबिक, नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए), राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) और केंद्र सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के खिलाफ महाराष्ट्र में वंचित बहुजन आघाडी (वीबीए) ने राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है। बंद के दौरान आज राज्यभर में 3 हजार से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया।

पुलिस ने कई वीबीए कार्यकर्ताओं को उस समय हिरासत में ले लिया जब घाटकोपर में ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर उन्होंने कुछ वाहनों को रोकने की कोशिश की। इस दौरान मुंबई में एक बेस्ट बस पर पत्थरबाजी की गई, जिससे बस का चालक घायल हो गया।

वीबीए के अध्यक्ष प्रकाश आंबेडकर ने अपने समर्थकों से सीएए, एनआरसी और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) का विरोध करने के लिए एक शांतिपूर्ण और अहिंसक बंद सुनिश्चित करने का आग्रह किया। वीबीए के राज्य प्रवक्ता के मुताबिक, 100 से अधिक संगठनों के समर्थन के साथ बंद सफल रहा।

कुर्ला, सायन-ट्रॉम्बे रोड, बाइकला, दादर, वडाला और अंधेरी जैसे इलाकों में बंद का आंशिक असर देखा गया। पुणे में प्रदर्शनकारियों ने दत्तवाड़ी इलाके और कोथरू में कुछ वाहनों पर पथराव किया। चेंबूर के पास मुंबई में राज्य परिवहन निगम के वाहनों पर पथराव की मामूली घटनाओं के अलावा अब तक कोई अप्रिय घटना सामने नहीं आई है। 
फोटो सौजन्‍य : टि्वटर

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख ISL सुपर लीग में चेन्नइयन एफसी जीत की हैट्रिक के साथ 6ठे स्थान पर पहुंचा