पुलवामा हमले से दुखी शंकराचार्य ने रामाग्रह यात्रा स्थगित की

रविवार, 17 फ़रवरी 2019 (15:36 IST)
प्रयागराज। ज्योतिषपीठ और द्वारका शारदा पीठ के जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने पुलवामा की घटना के बाद देशहित में अयोध्या श्रीराम जन्मभूमि रामाग्रह यात्रा और इष्टिका न्यास का कार्यक्रम रविवार को स्थगित कर दिया।
 
इस यात्रा के संयोजक स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती की ओर से एक बयान जारी करते हुए बताया कि स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के बावजूद शंकराचार्य अपनी रामाग्रह यात्रा करने पर अडिग थे।
 
उन्होंने बताया कि लेकिन रविवार सुबह जब उनके शिष्यों और सहयोगियों ने उन्हें टेलीविजन पर पुलवामा घटना से जुड़े समाचार की ओर उनका ध्यान आकृष्ट कराया, तब वे शांत हो गए और कुछ देर बाद वाराणसी के जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने जब यात्रा स्थगित करने का अनुरोध किया तो शंकराचार्य ने कहा कि वे देश के साथ हैं।
 
स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने बताया कि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि ने पत्र लिखकर और उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टेलीफोन पर शंकराचार्य से यात्रा और शिलान्यास का कार्यक्रम स्थगित करने का अनुरोध किया था।

उनके मुताबिक कि शंकराचार्य ने कहा कि यद्यपि श्रीराम जन्मभूमि के संदर्भ में उन्होंने जो निर्णय किया है वह सामयिक और आवश्यक है, लेकिन देश में उत्पन्न हुई इस आकस्मिक परिस्थिति के मद्देनजर उन्होंने कुछ समय के लिए यात्रा स्थगित करने का निर्णय किया है। 
 
उल्लेखनीय है कि पूर्व में की गई घोषणा के मुताबिक जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती को 17 फरवरी को प्रयागराज से रामाग्रह यात्रा प्रारंभ करनी थी। स्वास्थ्य खराब होने के चलते उन्हें बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था और शनिवार को वे काशी के केदार घाट स्थित श्री विद्यामठ चले आए थे और रामाग्रह यात्रा के लिए रविवार को प्रयागराज आने वाले थे। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख बारूदी सुरंग विस्फोट में शहीद हुए मेजर चित्रेश बिष्ट की अगले महीने होनी थी शादी