दुनिया भर में छाए रहे भारतीय व्यंजन

भारतीय जायकेबाज बने पहली पसंद

ND

भारतीय व्यंजन दुनिया भर में बड़े चाव से खाएँ और खिलाएँ जाते हैं। इस वर्ष भारतीय जायकेबाजों ने दुनिया भर के लोगों को चटखारे लेने पर मजबूर किया और भारतीय व्यंजन हमेशा की तरह दुनिया भर की चटोरी जुबानों की पहली पसंद बने रहे और कई जायकेबाज कई कारणों से खबरों में रहे।

इस वर्ष टेलीविजन पर जायकेबाजों के रिएलिटी शो का प्रसारण शुरू हुआ। एक समय होटल में काम कर चुके बॉलीवुड स्टार अक्षर कुमार भारतीय व्यंजनों पर आधारित शो ‘मास्टर शेफ इंडिया’ लेकर आए। यह कार्यक्रम '‘मास्टर शेफ आस्ट्रेलिया’ की तर्ज पर बनाया गया। इससे पहले कलर्स पर ‘किचन क्वीन’ के दो संस्करण प्रसारित किए गए। पहले संस्करण में सूत्रधार बने रोनित राय और दूसरे में उनके साथ नजर आईं करिश्मा कपूर।

ब्रिटेन में होने वाले इसी तरह के एक अन्य आयोजन में भारतीय मूल के मास्टर शेफ ऋषिकेश देसाई ने नौ अन्य प्रतिस्पर्धियों को पछाड़ते हुए 13 अक्टूबर को नेशनल शेफ का खिताब जीता।

बाथ के समीप ल्यूकनैम पार्क होटल में ब्रैस्सेरी प्रमुख शेफ देसाई ने अंतिम दौर के कड़े मुकाबले के बाद इस वर्ष के क्राफ्ट गिल्ड ऑफ शेफ्स नेशनल शेफ का ताज जीता और गोर्डन राम्से, डेविड एवेरिट्ट मैत्थिस जैसे जाने माने शेफ की श्रेणी में शामिल हो गए।

स्वादिष्ट भोजन के शौकीनों के लिए एक और अच्छी खबर है। जल्दी ही तीन नए चैनल शुरू होने जा रहे हैं, जिन पर सिर्फ खाना बनाने और खिलाने की बातें होंगी। इस कड़ी में सबसे पहले जी इंटरटेनमेंट अपना चैनल शुरू कर रहा है।

मलेशिया की एस्ट्रो ऑल एशिया नेटवर्क्‍स चर्चित खानसामा संजीव कपूर की टेलीविजन कंपनी टर्मेरिक विजन के साथ मिलकर ‘फूड फूड’ नाम से चैनल शुरू कर रही है। साथ ही अल्वा ब्रदर्स ने भी खाना, कुकिंग और संबंधित गतिविधियों पर विशेष चैनल ‘फूड फर्स्ट’ शुरू करने की योजना को अंतिम रूप दे दिया है।

ND
ब्रिटेन के ग्लासगो में रहने वाले भारतीय मूल के प्रख्यात प्रसारक और सेलेब्रिटी मास्टरशेफ टेलीविजन शो में दूसरे स्थान पर रहे हरदीप सिंह कोहली अब ब्रिटिश बच्चों के लिए एक कुकिंग स्कूल खोलने जा रहे हैं।

पेशे से पत्रकार कोहली अक्टूबर में दक्षिणी ग्लासगो में बच्चों के लिए कुक स्कूल शुरू करेंगे और व्यावहारिक और मनोरंजक तरीके से बच्चों को भोजन और पोषण के बारे में जानकारी देंगे।

यदि आप ब्रिटेन में उंगलियाँ चाटने पर मजबूर करने वाले लजीज भारतीय व्यंजन का लुत्फ उठाना चाहते हैं तो 'ब्रिटेन की करी' राजधानी ग्लासगो इस मामले में आपकी उम्मीदों पर खरी उतर सकती है, क्योंकि इस शहर ने एक व्यंजन प्रतियोगता में 10 दिसंबर को देश की करी राजधानी बनने का गौरव हासिल किया।

इस प्रतियोगिता में दूसरा स्थान हासिल करने वाले बैड्रफोर्ड शहर के रेस्तराँ मालिकों ने जोर देते हुए कहा कि ब्रिटेन में सर्वश्रेष्ठ भारतीय व्यंजन बैड्रफोर्ड में बनता है। भारतीय करी को पिछले नौ वर्ष से ब्रिटेन के लोगों का पसंदीदा भोजन होने का गौरव हासिल था, लेकिन इस वर्ष इटली के व्यंजन पिज्जा ने इसे मात दे दी। हालाँकि चिकन टिक्का मसाला को ब्रिटेन का राष्ट्रीय व्यंजन घोषित किया जाना भारतीय जायकेबाजों के लिए राहत की बात रही।

सन पत्रिका के अनुसार, इस वर्ष ब्रिटेन के लोगों ने 19 करोड़ 10 लाख प्लेट भारतीय करी खरीदी, वहीं उन्होंने 46 करोड़ 60 लाख प्लेट इटालियन पिज्जा खरीदा।

इस बार करीब 12700 रेस्त्राँ ने इस इटालियन व्यंजन को परोसा, जबकि करीब 12000 रेस्त्राँ में भारतीय करी परोसी गई।

कम लागत और सस्ते श्रम के चलते बेशक चीनी उत्पाद पूरी दुनिया में आगे बढ रहे हों लेकिन जब बात भारतीय समोसों, दाल और कढ़ी के स्वाद की आती है तो भारतीय स्वाद चीन पर भारी पड़ता है। चीन के शांगहाए शहर में जून में विश्व व्यापार मेले के दौरान भारतीय मंडप के रेस्त्राँ में समोसा, दाल और करी खाने वालों की भारी भीड़ रही तथा लोगों ने जमकर भारतीय व्यंजनों का आनंद लिया। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें