Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

रूसी टीवी चैनल के पूरे स्टाफ का On-Air इस्तीफा, कहा, No To War

हमें फॉलो करें रूसी टीवी चैनल के पूरे स्टाफ का On-Air इस्तीफा, कहा, No To War
, शुक्रवार, 4 मार्च 2022 (18:53 IST)
मॉस्को, एक रूसी टेलीविजन चैनल के पूरे स्टाफ ने अपने अंतिम प्रसारण में 'नो टू वॉर' (No to War) का मैसेज दिया और लाइव ऑन-एयर ही इस्तीफा भी दे दिया।

रूसी अधिकारियों द्वारा यूक्रेन युद्ध के कवरेज के लिए ‘टीवी रेन’ (TV Rain, Dozhd) के संचालन को निलंबित कर दिया। इसके बाद TV Rain के अधिकारियों ने लाइव आकर सामूहिक इस्तीफे का यह फैसला लिया।

‘टीवी रेन’ चैनल के संस्थापकों में से एक, नतालिया सिंदेयेवा ने अपने आखिरी टीवी प्रोग्राम प्रसारण में “No to war” कहा, इसके बाद चैनल के सभी कर्मचारियों ने स्टूडियो से वॉकआउट कर दिया।

TV Rain चैनल ने बाद में जारी अपने एक बयान में कहा कि उसने अपना ऑपरेशन अनिश्चित काल के लिए निलंबित कर दिया है। टीवी चैनल स्टाफ के सामूहिक इस्तीफे का यह वीडियो लेखक डेनियल अब्राहम (Daniel Abrahams) ने लिंक्डइन (LinkedIn) पर शेयर किया है।

अपने पूरे स्टाफ के स्टूडियो से बाहर निकलने के बाद, TV Rain चैनल ने ‘स्वान लेक’ बैले (Swan Lake Ballet) वीडियो चलाया, जिसे 1991 में सोवियत संघ के पतन के समय रूस में सरकारी टीवी चैनलों पर दिखाया गया था। यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

रूस के एक अन्य मीडिया आउटलेट ‘ईको मोस्किवी’ (Ekho Moskvy/Echo of Moscow) रेडियो स्टेशन को भी यूक्रेन युद्ध के कवरेज लिए रूसी अधिकारियों की ओर से दबाव बनाकर बंद करा दिया गया है। इस रेडियो स्टेशन के संपादक ने गुरुवार को कहा कि दबाव के चलते हमारे बोर्ड को भंग कर दिया गया है।

‘ईको ऑफ मॉस्को’ के प्रधान संपादक अलेक्सी वेनेडिक्टोव ने इस सप्ताह समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि उनका रेडियो स्टेशन अपने स्वतंत्र संपादकीय लाइन को नहीं छोड़ेगा जो तीन दशकों से इसकी पहचान है। उन्होंने यह घोषणा करते हुए कहा, हमारी संपादकीय नीतियां नहीं बदलेंगी।

पुतिन पर लगाया मीडिया कंट्रोल करने का आरोप
इससे पहले संयुक्त राज्य अमेरिका ने बुधवार को रूस पर स्वतंत्र समाचार आउटलेट्स को प्रतिबंधित कर के रूसियों को यूक्रेन युद्ध की खबर सुनने से रोककर, “मीडिया स्वतंत्रता और सच्चाई पर पूर्ण युद्ध” शुरू करने का आरोप लगाया।

अमेरिकी विदेश विभाग ने अपने एक बयान में कहा, “रूस की सरकार ट्विटर, फेसबुक और इंस्टाग्राम प्लेटफॉर्म का भी गला घोंट रही है, जिन पर रूस के लाखों नागरिक स्वतंत्र जानकारी और राय हासिल करने के लिए भरोसा करते हैं।”


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

होर्डिंग-पोस्टर से नहीं पेड़ लगाकर कार्यकर्ता मनाएं मुख्यमंत्री का जन्मदिन: वीडी शर्मा