हृदय रोगी और सेक्स ...जानें कितना सुरक्षित?

भारत में लोगों को दिल की बीमारी होने की संभावनाए ज्यादा होती हैं। एक शोध के अनुसार इस बात की पुष्टि भी की गई है कि भारत में लोगों को डायबिटीज और दिल की बीमारी ज्यादा होती है।
लेकिन क्या दिल का दौरा पड़ने के तुरंत बाद सेक्स करना ठीक है। ज्यादातर यह देखा गया है कि जब लोगों को दिल का दौरा पड़ता है तो वे इस डर से कई दिनों तक सेक्स नहीं करते कि कहीं फिर से दौरा ना पड़ जाए।
 
चूंकि वे मानते हैं कि सेक्स में ज्यादा शारीरिक बल की आवश्यकता होती है और इस वजह से दिल का दौरा पड़ने की संभावनाएं ज्यादा होती हैं। इस संबंध में कुछ शोधकर्ताओं ने अध्ययन किया है उन्होंने अध्ययन में 30 साल से 70 साल तक के व्यक्तियों को सम्मिलित किया।
 
उन्होंने पाया कि सेक्स करने के दौरान तभी व्यक्ति को दिल का दौरा पड़ सकता है अगर वह दो बड़ी-बड़ी सीढ़ियों को चढ़ने बराबर और एक फुर्तीली दौड़ बराबर मेहनत करे तब ही उसे फिर से दिल का दौरा पड़ने की आशंकाएं होती हैं। 
 
शोध में पाया गया कि लगभग 15 प्रतिशत लोगों ने दिल का दौरा पड़ने के बाद सेक्स ही नहीं किया, लगभग 5 प्रतिशत लोगों ने महीनें में एक बार सेक्स किया, वहीं 25 प्रतिशत लोगों ने एक सप्ताह में कम बार सेक्स किया। वहीं 55 प्रतिशत लोगों ने एक सप्ताह में सिर्फ एक बार सेक्स किया। 
 
पिछले दिनों यह बात भी निकलकर के सामने आई थी कि अगर जोड़ा ज्यादा सेक्स करता है(मतलब दिन में तीन से चार बार) तो भविष्य में उसके दिल की बीमारी की चपेट में आने की संभावनाएं ज्यादा होती हैं। शोधकर्ताओं ने इस बात को पूरी तरह नकारा है और बताया है कि इस तरह का कोई खतरा नहीं होता।         
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख भीगे मौसम में रोमांटिक सेक्स चाहें तो इन नुस्खों को आजमाएं