विंबलडन में पहले दौर में बड़ा उलटफेर, 15 साल की कोरी ने वीनस को हराया

मंगलवार, 2 जुलाई 2019 (15:24 IST)
लंदन। वर्ष के तीसरे ग्रैंडस्लैम विंबलडन में एकल वर्ग के लिए क्वालीफाई करने वाली सबसे युवा खिलाड़ी 15 साल की कोरी गौफ ने सबसे बड़ा उलटफेर करते हुए महिला एकल के पहले ही दौर में पूर्व नंबर एक और हमवतन अमेरिका की वीनस विलियम्स को हराकर बाहर कर दिया है।

कोरी ने पांच बार की ग्रैंड स्लेम चैंपियन वीनस को लगातार सेटों में 6-4, 6-4 से हराया। अमेरिका की युवा और अनुभवी खिलाड़ियों के बीच कोर्ट-वन पर हुए इस मुकाबले में कोरी ने उम्र में 24 वर्ष बड़ी वीनस के खिलाफ पूरे आत्मविश्वास के साथ प्रदर्शन किया।

इससे पहले जापान की नाओमी ओसाका, एलेक्सांद्र ज्वेरेव और स्टेफानोस सितसिपास सभी सोमवार को अपने-अपने मुकाबले हारकर ऑल इंग्लैंड क्लब से बाहर हो गए। जापानी सुपर स्टार ओसाका को 39वीं रैंक कजाखिस्तान की यूलिया पुतिनसेवा से लगातार सेटों में 7-6 (7/4), 6-2 से हार झेलनी पड़ी। यूलिया ने दो सप्ताह पहले बर्मिंघम में भी विश्व की दूसरे नंबर की खिलाड़ी को हराया था।

हालांकि पहले ही दौर में केवल वही उलटफेर का शिकार होने वाले खिलाड़ियों में शामिल नहीं रहीं। उनके अलावा छठी सीड जर्मनी के ज्वेरेव और सातवीं सीड सितसिपास भी पुरुष एकल के पहले दौर में बाहर हो गए।

यूएस ओपन और ऑस्ट्रेलिया ओपन की विजेता ओसाका वर्ष 2001 में मार्टिना हिंगिस के बाद पहली खिलाड़ी हैं जो शीर्ष वरीय में होने के बावजूद पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गई हैं। वह फ्रेंच ओपन में भी तीसरे ही दौर में बाहर हो गई थीं। जनवरी में ऑस्ट्रेलियन ओपन के बाद से ओसाका किसी टूर्नामेंट के फाइनल में नहीं पहुंची हैं।

22 साल के ज्वेरेव को विश्व के 124वें नंबर के चेक क्वालिफायर जिरी वेस्ली से कड़े संघर्ष में 4-6, 6-3, 6-2, 7-5 से शिकस्त झेलनी पड़ गयी। ज्वेरेव ने मैच के बाद कहा, कोर्ट के बाहर हर स्थिति आपको प्रभावित करती है। मैं मैच के विवरण में नहीं जाना चाहता। पिछले कुछ दिन मेरे लिए काफी कठिन रहे हैं। ज्वेरेव विंबलडन में कभी भी राउंड 16 से आगे नहीं जा सके हैं।

ज्वेरेव की हार के 15 मिनट बाद 20 साल के सितसिपास को भी विश्व के 89वें नंबर के इटली के थामस फाबियानो से 6-4, 3-6, 6-4, 6-7 (8/10), 6-3 से शिकस्त झेलनी पड़ गई। सितसिपास ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल तक पहुंचे थे, जबकि गत वर्ष विंबलडन के चौथे राउंड तक पहुंचे थे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख वर्ल्ड कप : धनंजय डिसिल्वा बोले, भारत को बना सकते हैं उलटफेर का शिकार