धारुन अय्यासामी ने 400 मीटर बाधा दौड़ में अपना राष्ट्रीय रिकॉर्ड सुधारा

शनिवार, 16 मार्च 2019 (23:24 IST)
पटियाला। धारुन अय्यासामी ने 23वें फेडरेशन कप के दूसरे दिन शनिवार को यहां पुरुषों की 400 मीटर बाधा दौड़ में अपना राष्ट्रीय रिकॉर्ड सुधारा जबकि 8 खिलाड़ियों ने दोहा में होने वाले एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप का टिकट कटाया।
 
अय्यासामी ने 48.80 सेकंड का समय लेकर अपने पिछले रिकॉर्ड 48.96 में सुधार किया, जो उन्होंने 2018 इंडोनेशिया में एशियाई खेलों के दौरान बनाया था। उनका यह प्रदर्शन एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप (19 से 24 अप्रैल) के लिए क्वालीफाई करने के लिए काफी था। भारतीय एथलेटिक्स महासंघ ने इसके लिए 50 सेकंड का क्वालीफिकेशन मानक रखा था।
 
इस स्पर्धा में केरल के एमपी जाबीर (49.53 सेकंड) ने रजत और तमिलनाडु के एम. रामचंद्रन (50.57) ने कांस्य पदक हासिल किया। गुजरात की सरिताबेन गायकवाड़ ने महिलाओं की 400 मीटर बाधा दौड़ में 57.21 सेकंड के समय के साथ नया मीट रिकॉर्ड कायम किया। पिछला मीट रिकॉर्ड अनु रानी के नाम था।
 
कर्नाटक की अर्पिता एम. मामूली अंतर से पिछड़ गईं जिन्होंने 57.45 सेकंड का समय लिया। दोनों खिलाड़ी हालांकि दोहा का टिकट हासिल करने में सफल रहीं। जौना मुर्मू को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। तमिलनाडु की गोमती मारिमुथु और पंजाब की ट्विंकल चौधरी भी दोहा प्रतिस्पर्धा के लिए महिलाओं की 800 मीटर दौड़ स्पर्धा में क्वालीफाई करने में सफल रहीं। मारिमुथु ने 2.03.21 मिनट जबकि ट्विंकल ने 2.03.67 मिनट का समय लिया।
 
पुरुषों के त्रिकूद स्पर्धा में युवा ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता प्रवीण चित्रवेल ने एशियाई खेलों के स्वर्ण पदकधारी अर्पिंदर सिंह को पछाड़कर चौंका दिया। चित्रावेल ने 16.51 मीटर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर स्वर्ण पदक हासिल करने के साथ एशियाई चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई भी किया।
 
अर्पिंदर 16.34 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ चौथे स्थान पर रहे। पुरुषों के भाला फेंक में करीबी मुकाबला देखने को मिला। शिवपाल सिंह ने 82.56 मीटर का थ्रो फेंका। विपिन कसाना 81.23 मीटर के साथ दूसरे और राजेन्द्र सिंह 79.75 मीटर थ्रो के साथ तीसरे स्थान पर रहे।
 
एशियाई चैंपियनशिप का क्वालीफाइंग मार्क 80.75 मीटर था जिससे विपिन ने भी दोहा में होने वाले प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई किया। शिवपाल क्वालीफाइंग स्पर्धा में 81.48 मीटर के थ्रो के साथ एशियाई चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई कर चुके थे। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख दीक्षा ने इतिहास रचा, दक्षिण अफ्रीका महिला ओपन खिताब जीता