जोकोविच 5वीं बार बने विंबलडन के बादशाह, 5 घंटे तक चले मैच में फेडरर को हराया

सोमवार, 15 जुलाई 2019 (00:23 IST)
लंदन। विश्व के नंबर एक खिलाड़ी और गत चैंपियन सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने सांसों को रोक देने वाले बेहद रोमांचक मुकाबले में 20 ग्रैंड स्लेम खिताबों के विजेता स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर को रविवार को 7-6, 1-6, 7-6, 4-6, 13-12 से हराकर पांचवीं बार विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप का खिताब जीत लिया। जोकोविच ने चार घंटे 55 मिनट तक चले मैराथन मुकाबले में ग्रास कोर्ट किंग फेडरर को हरा दिया।
 
शीर्ष वरीय जोकोविच का यह छठा और दूसरी सीड फेडरर का 12वां फाइनल था। इस हार के साथ फेडरर का नौंवीं बार विंबलडन और अपना 21वां ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने का सपना टूट गया। जोकोविच का यह 16वां ग्रैंड स्लेम खिताब है। 
 
जोकोविच ने टाई ब्रेक में अपनी महारत दिखाते हुए खिताब अपने नाम किया। उन्होंने पहले, तीसरे और पांचवें सेट का टाई ब्रेक जीता। टेनिस के इन दो दिग्गज खिलाड़ियों के बीच मुकाबले में जबरदस्त टक्कर हुई और कोई भी हार मानने को तैयार नहीं था।
 
मैच का फैसला पांचवें सेट में जाकर हुआ। पहला सेट टाई ब्रेक में गया और जोकोविच ने पहले सेट का टाई ब्रेक 7-5 से जीत लिया। लेकिन दूसरे सेट में ग्रास कोर्ट किंग फेडरर का खेल पूरे शवाब पर था और उन्होंने यह सेट 6-1 से जीतकर मैच में 1-1 की बराबरी कर ली।
 
तीसरा सेट फिर टाई ब्रेक में खिंच गया और इस बार भी जोकोविच टाई ब्रेक को जीतने में कामयाब रहे। जोकोविच ने टाई ब्रेक 7-4 से जीतकर मैच में 2-1 की बढ़त बना ली। चौथे सेट में फेडरर ने जोर लगाया और यह सेट 6-4 से जीतकर मैच को 2-2 की बराबरी ले आए।
 
निर्णायक सेट में जोकोविच 4-2 से आगे थे लेकिन फेडरर ने सातवें गेम में सर्विस ब्रेक हासिल कर स्कोर 3-4 कर दिया। फेडरर ने अपनी सर्विस बरकरार रख स्कोर 4-4 कर दिया। जोकोविच नौंवे गेम में 5-4 से आगे हुए जबकि फेडरर ने 10वें गेम में स्कोर 5-5 कर दिया।
 
मुकाबला लगातार कड़ा होता जा रहा था और जोकोविच ने 11वें गेम में स्कोर 6-5 पहुंचा दिया। 12वें गेम में फेडरर की सर्विस पर स्कोर 40-40 हो गया। फेडरर ने इस गेम में अपनी सर्विस बचायी और स्कोर 6-6 हो गया। जोकोविच 13वें गेम में 7-6 से आगे हुए जबकि फेडरर ने अगले गेम में स्कोर 7-7 कर दिया। स्विस मास्टर ने 15वें गेम में जोकोविच की सर्विस पर महत्वपूर्ण ब्रेक हासिल कर 8-7 की बढ़त बना ली।
 
फेडरर 16वें गेम में खिताब के लिए सर्विस कर रहे थे। फेडरर ने स्कोर 40-15 कर दिया लेकिन जोकोविच ने आखिरी जोर लगाते हुए स्कोर को 40-40 पहुंचा दिया। घड़कनें लगातार तेज होती जा रही थीं और जोकोविच को एडवांटेज मिल गया। जोकोविच ने आखिरी सर्विस ब्रेक हासिल किया और स्कोर 8-8 हो गया। फेडरर ने मैच यहीं समाप्त करने का अच्छा मौका गंवा दिया। फेडरर को यही भूल अंत में भारी पड़ गई।
 
इस सेट में स्कोर 12-12 पहुंच गया जिसके बाद टाई ब्रेकर का सहारा लिया गया। पहला और तीसरा सेट टाई ब्रेकर में जीतने वाले जोकोविच ने 4-1 की बढ़त बना ली। उसी समय लॉर्ड्स मैदान पर इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच चल रहे आईसीसी विश्वकप के फाइनल का स्कोर टाई हो गया और मैच फैसले के लिए सुपर ओवर में चला गया।
 
लंदन में दो जगह क्रिकेट और टेनिस का बेहद रोमांचक मुकाबला चल रहा था। फेडरर ने टाई ब्रेक में लगातार दो अंक लिए और स्कोर 3-4 किया। जोकोविच ने फिर लगातार दो अंक लिए और 6-3 से आगे हो गए। उन्होंने टाई ब्रेक को 7-3 से जीतकर खिताब अपने नाम कर लिया। फेडरर ने जोकोविच को इस जीत के लिए हाथ मिलाकर बधाई दी जबकि दर्शकों ने इस उच्च स्तरीय मुकाबले का तालियां बजाकर स्वागत किया।
 
जोकोविच और फेडरर के बीच करियर का यह 48वां मुकाबला था। जोकोविच ने इस जीत के साथ फेडरर पर  26-22 की बढ़त बना ली है। 37 वर्षीय फेडरर ओपन युगल में ग्रैंड स्लेम चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले तीसरे सबसे उम्रदराज़ खिलाड़ी बने थे लेकिन वह अंत में खिताब से चूक गए। जोकोविच ने वर्ष 2014 और 2015 के विंबलडन फाइनल में भी फेडरर को हराकर खिताब जीता था। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख सुपर ओवर में इंग्लैंड बना नया विश्व चैंपियन, न्यूजीलैंड ने जीता दिल