कोरोना वायरस के गढ़ वुहान में लौटा फुटबॉल

मंगलवार, 26 मई 2020 (14:20 IST)
वुहान। कोरोना वायरस के गढ़ रहे चीनी शहर वुहान में अब जनजीवन सामान्य होता जा रहा है और लगभग तीन महीने तक घरों में कैद रहने वाले फुटबॉलर भी मैदान पर उतरने लग गए हैं। वुहान की आबादी 1 करोड़ 10 लाख है और यहां लगभग तीन महीने तक लॉकडाउन रहा जो अप्रैल में जाकर समाप्त हुआ। इसके बाद अब एमेच्योर फुटबॉलरों ने भी अपनी खेल गतिविधियां शुरू कर दी हैं। 
 
एमेच्योर फुटबॉलर वांग जीजुन ने कहा, ‘हमें लंबे समय तक लॉकडाउन में रहना पड़ा जहां हम कुछ कसरत ही कर सकते थे। मैं घर के अंदर ही अपने बेटे के साथ फुटबॉल खेलता था। हम एक दूसरे को गेंद देते थे। कई बार गैराज में जाकर व्यायाम कर लेते थे।’ दूधिया रोशनी में फुटबॉल का अभ्यास करने वाले एक अन्य खिलाड़ी ने कहा कि दोस्तों और टीम के साथियों के साथ फिर फुटबॉल खेलना सुखद अहसास है। उन्होंने मास्क लगाए बिना ऐसा किया हालांकि कुछ खिलाड़ी ऐसे थे जिनकी गर्दन पर मास्क लटक रहा था। 
 
वेन नाम के एक खिलाड़ी ने कहा, ‘लॉकडाउन से पहले सभी बेहद परेशान थे। लॉकडाउन हटने के बाद हमने सप्ताह में एक बार अभ्यास शुरू कर दिया है। मैं बहुत खुश हूं।’ पेशेवर फुटबॉलर भी इससे प्रभावित रहे। चीनी महिला टीम की स्टार खिलाड़ी और वुहान की निवासी वांग शुआंग ने भी फिर से अभ्यास शुरू कर दिया है। वह टोक्यो ओलंपिक के लिए टीम में जगह बनाने की प्रबल दावेदार है। 
 
चीनी सुपर लीग की टीम वुहान जॉल और तीसरे स्तर की टीम वुहान थ्री टाउन्स दोनों शहर लौट आई हैं। महामारी फैलने के कारण उन्हें दूसरे स्थानों पर जाकर अभ्यास करना पड़ा था। चीनी सुपर लीग का सत्र 22 फरवरी से शुरू होना था लेकिन इसे अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया था। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख स्टार्क की चेतावनी, लार पर प्रतिबंध से क्रिकेट के नीरस होने का खतरा