Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

13 साल की उम्र में बनीं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर, 20 साल की उम्र में जीत लिया हॉकी विश्व कप में सिल्वर मैडल

webdunia
गुरुवार, 9 अगस्त 2018 (15:27 IST)
डबलिन। आयरलैंड की एलीना टाइस मात्र 13 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने वाली सबसे युवा खिलाड़ियों में से एक बनी थीं और अब उन्होंने 20 साल की उम्र में महिला हॉकी विश्वकप का रजत पदक अपने नाम कर लिया है। 
 
 
एलीना 13 साल की उम्र में आयरलैंड की महिला क्रिकेट टीम के लिए अंतरराष्ट्रीय मैदान में उतरी थीं। जब वे अपनी 18 साल की उम्र से दो सप्ताह कम थीं तो उन्होंने 2016 में आयरलैंड की महिला हॉकी टीम के लिए सीनियर अंतरराष्ट्रीय पदार्पण किया था और अब 20 साल की उम्र में वे हॉकी महिला विश्वकप की रजत पदक विजेता बन गई हैं। 
 
16 वर्षों में पहली बार महिला हॉकी विश्वकप खेल रहे आयरलैंड ने कई उलटफेर करते हुए लंदन में आयोजित विश्वकप के फाइनल में जगह बनाई, जहां टीम को गत चैंपियन हॉलैंड से 0-6 से हार का सामना करना पड़ा। इस जीत से आयरलैंड की टीम ताजा विश्व रैंकिंग में आठ स्थान की छलांग लगाकर आठवें नंबर पर पहुंच गई हैं। 
 
अर्थशास्त्र की छात्रा एलीना यूनिवर्सिटी कॉलेज डबलिन क्लब में अपनी टीम की डिफेंडर हैं और वे चंद महिला क्रिकेटरों में शामिल हैं जिन्होंने अपने देश का दो खेलों में प्रतिनिधित्व किया है। ऑस्ट्रेलिया की ऑलराउंडर एलिस पैरी फुटबॉल, न्यूजीलैंड की कप्तान सूजी बेट्स बास्केटबॉल और ऑलराउंडर सूफी डिवाइन हॉकी में खेल चुकी हैं। 
 
एलीना ने दोनों खेलों में मिलाकर 40 से अधिक अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जिनमें 40 मैच तो क्रिकेट में हैं। अपने क्रिकेट करियर के दौरान एलीना लेग स्पिनर की भूमिका निभाती थीं और उन्होंने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच 2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ट्वेंटी 20 मैच के रूप में खेला था। उनका अगला लक्ष्य 2020 के टोक्यो ओलंपिक में खेलना है। (वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

IND vs ENG : लॉर्ड्स में पिछले 7 वर्षों में एशियाई टीमों का शानदार रिकॉर्ड