आईओए को रियो ओलंपिक में 12 से 15 पदक की उम्मीद

बुधवार, 29 जून 2016 (16:50 IST)
नई दिल्ली। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल, निशानेबाज जीतू राय और पहलवानों को पदक का प्रबल दावेदार बताते हुए बुधवार को उम्मीद जताई कि भारत रियो ओलंपिक में पिछली बार की तुलना में दोगुने पदक जीतने में सफल रहेगा।
आईओए महासचिव राजीव मेहता ने बुधवार को यहां एक कार्यक्रम में कहा कि इस बार हमारा सबसे बड़ा दल ओलंपिक में जा रहा है और हमें उम्मीद है कि भारत इस बार 12 से 15 पदक जीतने में सफल रहेगा।
 
उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि हमें सभी खिलाड़ियों से बेहतर प्रदर्शन की आशा है लेकिन साइना नेहवाल, जीतू राय, (मुक्केबाज) विकास कृष्णन, टेनिस में युगल टीम, तीरंदाजी, कुश्ती और पुरुष हॉकी पर हमारी काफी उम्मीदें टिकी हैं।
 
रियो ओलंपिक के लिए भारतीय दल प्रमुख राकेश गुप्ता ने हालांकि स्पष्ट किया कि 15 पदक जीतने की गारंटी नहीं दी जा सकती है लेकिन कहा कि इस बार भारत को लंदन ओलंपिक की तुलना में अधिक पदक मिलेंगे। भारत ने 2012 ओलंपिक में 6 पदक जीते थे। 
 
गुप्ता से जब मिशन ओलंपिक की रिपोर्ट के बारे में पूछा गया जिसमें रिपोर्टों के अनुसार 20 पदक की उम्मीद जताई गई है तो उन्होंने कहा कि मैंने अभी यह रिपोर्ट नहीं देखी है और जब तक हम इसे देख नहीं लेते तब तक कोई टिप्पणी नहीं कर सकते। हम 15 पदक की गारंटी नहीं दे सकते हैं लेकिन इस बार हम पिछली बार की तुलना में अधिक पदक जीतने में सफल रहेंगे।
 
उन्होंने इसके साथ ही स्पष्ट किया कि भारत में मुक्केबाजी का राष्ट्रीय महासंघ नहीं होने के बावजूद मुक्केबाज रियो ओलंपिक में आईओए ध्वज तले ही हिस्सा लेंगे। गुप्ता ने हालांकि स्वीकार किया कि महासंघ नहीं होने के कारण मुक्केबाजों को विदेशों में खेलने के कम मौके मिले। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख टीम को प्रेरित करेंगे कुंबले : रोहित शर्मा