रूस में आगामी विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाले भारतीय मुक्केबाजों को क्वालीफायर में सीधे प्रवेश

गुरुवार, 25 जुलाई 2019 (14:54 IST)
नई दिल्ली। रूस में आगामी विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाले भारतीय मुक्केबाजों को अगले साल ओलंपिक क्वालीफायर के लिए राष्ट्रीय टीम में सीधे प्रवेश मिलेगा। मुक्केबाजी के हाई परफार्मेस निदेशक सैंटियागो नीवा ने यह जानकारी दी। 
 
रूस में होने वाली विश्व चैम्पियनशिप को ओलंपिक क्वालीफायर दर्जा हासिल नहीं है। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ को 2020 टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफायर आयोजित करने से रोक दिया है। 
 
एआईबीए में प्रशासनिक और वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों के कारण यह फैसला लिया गया। आईओए ने क्वालीफायर्स भी अपने हाथ में ले लिए हैं। यह प्रक्रिया जनवरी में शुरू होगी जब एशिया ओशियाना क्षेत्र के क्वालीफायर खेले जाएंगे। अभी इसकी तारीख तय नहीं हुई है। 
 
नीवा ने कहा, विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीतने वालों को ओलंपिक क्वालीफायर टीम में सीधे प्रवेश मिलेगा। बाकियों को ट्रायल देने होंगे। विश्व चैम्पियनशिप 7 से 15 सितंबर तक रूस में खेली जाएगी। 
 
भारत ने इस चैम्पियनशिप में 4 कांस्य पदक जीते हैं जिनमें से पहला विजेंदर सिंह ने 2009 में इटली में जीता। वह 2015 में पेशेवर मुक्केबाज बन गए। विकास कृष्णन ने 2011, शिवा थापा ने 2015 और गौरव विधुड़ी ने 2017 में कांस्य पदक जीते।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख टीम इंडिया की जर्सी अब ऑनलाइन ट्यूशन देने वाली कंपनी Byju's का प्रचार करेगी