Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

क्रिकेट के बाद अब हॉकी में भी खिलाड़ी बना अध्यक्ष, दादा ही थे तिर्की की प्रेरणा

हमें फॉलो करें webdunia
शनिवार, 24 सितम्बर 2022 (15:20 IST)
नई दिल्ली: हॉकी इंडिया के नये अध्यक्ष दिलीप टिर्की के लिये भारतीय क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली मिसाल रहे हैं और उनका मानना है कि पूर्व खिलाड़ियों को खेल प्रशासन में आना चाहिये क्योंकि एक खिलाड़ी के नजरिये से उन्हें हालात की बेहतर समझ होती है।

भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान और महान डिफेंडर टिर्की को शुक्रवार को निर्विरोध हॉकी इंडिया का नया अध्यक्ष चुना गया । वह इस पद पर काबिज होने वाले पहले पूर्व खिलाड़ी हैं।  

हॉकी इंडिया के चुनाव एक अक्टूबर को होने थे लेकिन नतीजे पहले ही घोषित कर दिये गए क्योंकि उत्तर प्रदेश हॉकी संघ के प्रमुख राकेश कत्याल और हॉकी झारखंड के भोला नाथ सिंह के नाम वापिस लेने के बाद टिर्की को अध्यक्ष चुना गया।  
हॉकी टीम के लिए खेल चुके हैं 3 ओलंपिक

भारत के लिये तीन ओलंपिक (अटलांटा 1996, सिडनी 2000 और एथेंस 2004) समेत 412 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके टिर्की ने भाषा को दिये इंटरव्यू में कहा ,‘‘ मेरा मानना है कि पूर्व खिलाड़ियों को खेल प्रशासन में आना चाहिये क्योंकि उन्हें बेहतर पता होता है कि कहां फोकस करना है। जैसे क्रिकेट में दादा पहले बंगाल क्रिकेट संघ में थे और फिर बीसीसीआई अध्यक्ष बने और बढ़िया काम कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा ,‘‘मुझे खुशी है कि हॉकी इंडिया ने भी पहली बार मेरे जैसे पूर्व खिलाड़ी को अध्यक्ष चुना है। खिलाड़ी अपने कैरियर में कई चरणों से गुजरे होते हैं और उन्हें बेहतर अनुभव होता है।’’  
webdunia

बतौर अध्यक्ष प्राथमिकताओं के बारे में पूछने पर पूर्व राज्यसभा सांसद ने कहा कि वह जूनियर और सब जूनियर वर्ग के लिये विशिष्ट प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू करना चाहेंगे।

उन्होंने कहा,‘‘ जूनियर खिलाड़ियों के लिये विशिष्ट प्रशिक्षण कार्यक्रम जरूरी है मसलन अगली पीढ़ी के ड्रैग फ्लिकर और गोलकीपर तैयार करने जरूरी हैं और टीम फिटनेस पर भी फोकस रहेगा। हमने देखा के ओलंपिक में हमारे फ्लिकर और गोलकीपर पी आर श्रीजेश की भूमिका कितनी अहम रही लेकिन इनके बाद अगली पीढ़ी के खिलाड़ी भी तैयार करने होंगे।’’

उन्होंने कहा,‘‘ हॉकी इंडिया कई साल से अच्छा काम कर रहा है जो टीम के प्रदर्शन में नजर आता है। पुरूष टीम शीर्ष तीन चार टीमों में है और महिला टीम ओलंपिक सेमीफाइनल खेल रही है जो बड़ी बात है। जो भी कमियां है हम उन्हें दूर करने की कोशिश करेंगे।’’
हॉकी विश्वकप पर है तिर्की का ध्यान

अगले साल पुरूष हॉकी विश्व कप भुवनेश्वर और राउरकेला में होने जा रहा है और उसकी तैयारियों पर भी टिर्की का ध्यान रहेगा।उन्होंने कहा ,‘‘ अगले साल पुरूष विश्व कप को सफल बनाने पर मेरा पूरा फोकस रहेगा। ओडिशा में 2018 विश्व कप भी काफी कामयाब रहा था और हम खुशकिस्मत हैं कि लगातार दूसरी बार ओडिशा को इसकी मेजबानी मिली । आम जनता से लेकर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक तक हॉकी को लेकर सभी में जुनून हैं और दुनिया भर में हॉकी का जो क्रेज बढ़ा है, उसमें इसका बहुत योगदान रहा है ।’’
webdunia

उन्होंने यह भी कहा कि हॉकी लीग को फिर से शुरू करने की भी योजना है जिस पर जल्दी ही काम किया जायेगा।
उन्होंने कहा ,‘‘ हमारी हॉकी लीग को फिर से शुरू करने की भी योजना है । इस पर समिति से बात होगी और कार्यकारी बोर्ड से चर्चा करके इसे आगे बढ़ाया जायेगा ।’’  

टिर्की ने आखिर में कहा ,‘‘मैं हॉकी इंडिया की सभी इकाइयों को धन्यवाद देना चाहता हूं , खासकर भोला नाथ सिंह और राकेश कत्याल को जिन्होंने मेरे समर्थन में अध्यक्ष पद के चुनाव से नाम वापिस लिया । इसके साथ ही ओडिशा सरकार को धन्यवाद देना चाहता हूं । हम सभी मिलकर भारतीय हॉकी को आगे ले जाने के लिये काम करेंगे ।’’(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

T20I के नए ‘सिक्सर किंग’ बने हिटमैन रोहित शर्मा, मार्टिन गुप्टिल को पछाड़ा