Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

महिला कबड्डी टीम ने भी ईरान से गंवाया स्वर्ण

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 24 अगस्त 2018 (17:32 IST)
जकार्ता। 2 बार की चैंपियन भारतीय महिला कबड्डी टीम को भी मजबूत ईरान के खिलाफ शुक्रवार को एशियाई खेलों में अपनी बादशाहत गंवानी पड़ गई और वह रोमांच की पराकाष्ठा से भरे स्वर्ण पदक मुकाबले में 24-27 से पराजित हो गई और उसे रजत पदक से संतोष करना पड़ गया।

 
18वें एशियाई खेलों में जहां कबड्डी प्रतियोगिता में भारत के 2 स्वर्ण निश्चित माने जा रहे थे, वहीं उसकी पुरुष और महिला दोनों टीमों को उलटफेर का सामना करना पड़ गया। गुरुवार को 7 बार की चैंपियन भारतीय पुरुष टीम ईरान के हाथों ही अपना सेमीफाइनल मैच 18-27 से  पराजित होकर फाइनल की होड़ से बाहर हो गई थी।
 
हालांकि भारतीय महिलाओं ने फाइनल में प्रवेश कर स्वर्ण की उम्मीद बंधा रखी थी लेकिन स्वर्ण पदक मुकाबले में बढ़त के साथ शुरुआत करने के बावजूद उतार-चढ़ाव से भरे मैच में ईरान की महिलाओं ने कमाल की रणनीति दिखाते हुए मैच मात्र 3 अंकों के अंतर से अपने नाम कर स्वर्ण  पदक जीत लिया।
 
2010 के ग्वांग्झू और 2014 के इंचियोन एशियाई खेलों की स्वर्ण पदक विजेता भारतीय महिला टीम को इस हार के साथ ही रजत पदक से संतोष करना पड़ा है, वहीं चैंपियन पुरुष टीम को पाकिस्तान के साथ कांस्य पदक पर ठिठकना पड़ा है। 
 
फाइनल मुकाबले में दोनों ही टीमों के समर्थक थिएटर गरूड़ में भारी संख्या में मौजूद थे जबकि भारत और ईरान की पुरुष कबड्डी टीमें भी अपनी-अपनी महिला टीमों के समर्थन के लिए मौजूद थीं। भारतीय महिलाओं की हालांकि शुरुआत अच्छी रही और ईरानी खिलाड़ी साइदेह जाफरीकूची को दबोच उसने 6-2 की बढ़त बनाई लेकिन रंदीप खेहरा को चेन टैकल में विपक्षी खिलाड़ियों ने दबोच बढ़त बना ली।
 
भारतीय महिलाओं ने हालांकि लगातार अंक बटोरने की कोशिश जारी रखी और पायल ने अंक लेकर फिर से बढ़त दिलाई। यह सिलसिला दोनों टीमों के बीच लगातार चलता रहा और एक समय 16-18 के स्कोर पर रेड का गलत आकलन किया गया और ईरान के हक में अंक चले गए। 
 
दूसरे हॉफ में 8 मिनट बाद तक ईरान 2 अंक की बढ़त पर रहा। दबाव के बीच भारतीय कप्तान पायल ने 1 अंक लिया लेकिन ईरान ने बोनस अंक लेकर बढ़त का अंतर बढ़ा लिया। ईरानी खिलाड़ी गजल खलज को भारतीय खेमे में सोनाली शिंगाते ने एड़ी से जकड़ा लेकिन वे टच लाइन को छूकर आसानी से निकल गईं और स्कोर 24-20 पहुंच गया।
 
इस समय तक भारतीय खेमे पर दबाव पूरी तरह हावी था। हालांकि आखिरी 2 मिनट में साक्षी कुमारी ने 2 ईरानी डिफेंडरों को आउट कर 1 अंक लिया। उस समय भारत 21-25 से पीछे था। अंतत: ईरान ने भारतीय टीम को पराजित कर पहली बार स्वर्ण पदक जीत लिया। ईरान की  महिलाओं ने गुरुवार को अपनी पुरुष टीम की भारत पर सेमीफाइनल जीत का जश्न मनाया था और शुक्रवार को उन्होंने अपनी स्वर्ण पदक जीत का जश्न मनाया। 
 
दूसरी ओर भारतीय पुरुष टीम महिलाओं की हार से बेहद निराश नजर आई जबकि सेमीफाइनल मैच में चोटिल हुए अजय ठाकुर की आंखों में आंसू दिखाई दिए तथा महिला खिलाड़ी भी बेहद दुखी दिखीं। (वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दीपिका पल्लीकल सेमीफाइनल में, पदक पक्का