गिरावट से उबरा बाजार, सेंसेक्स और निफ्टी चढ़े

बुधवार, 26 दिसंबर 2018 (17:08 IST)
मुंबई। विदेशों से मिले नकारात्मक संकेतों से शुरुआती कारोबार में साढ़े चार सौ अंक से ज्यादा लुढ़कने वाला सेंसेक्स वित्त, बैंकिंग और दूरसंचार क्षेत्र की बड़ी कंपनियों में लिवाली के दम पर वापसी करता हुआ 234.51 अंक की बढ़त में 35,704.66 अंक पर बंद हुआ। लगातार तीन कारोबारी दिवसों के बाद बाजार में रौनक लौटी है।


नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी आरंभिक दबाव के बाद 66.35 अंक की तेजी में 10,729.85 अंक पर रहा। हालांकि मझोली और छोटी कंपनियों पर दबाव रहा। बीएसई का मिडकैप 0.01 प्रतिशत टूटकर 15,168.91 अंक पर और स्मॉलकैप 0.19 फीसदी लुढ़ककर 14,439.08 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में भारती एयरटेल के शेयर सवा चार प्रतिशत और एचडीएफसी के दो प्रतिशत चढ़े। एचडीएफसी बैंक में भी डेढ़ फीसदी से अधिक की तेजी रही।

वहीं सनफार्मा के शेयर पौने दो प्रतिशत और एस बैंक के डेढ़ प्रतिशत गिर गए। विदेशों में अधिकतर प्रमुख शेयर बाजार लाल निशान में रहे। इनके दबाव में सेंसेक्स 26.99 अंक फिसलकर 35,443.16 अंक पर खुला और पहले घंटे के कारोबार में ही साढ़े चार सौ अंक से ज्यादा टूटकर 35,010.82 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया।

बाद में जब बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्र की बड़ी कंपनियों में लिवाली शुरू हुई तो सेंसेक्स की गिरावट कम हुई और आखिरी डेढ़ घंटे में यह हरे निशान में रहा। इस दौरान इसका दिवस का उच्चतम स्तर 35,711.26 अंक रहा और यह 234.51 अंक यानी 0.66 अंक की बढ़त में 35,704.66 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 19 कंपनियों में बढ़त और 11 में गिरावट रही।

बीएसई में कुल 2,715 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,476 के शेयरों में बिकवाली और 1,081 में लिवाली का जोर रहा। शेष 158 कंपनियों के शेयर दिनभर के उतार-चढ़ाव से होते हुए अंतत: अपरिवर्तित रहे।निफ्टी 28.05 अंक टूटकर 10,635.45 अंक पर खुला। इसका ग्राफ भी कमोबेश सेंसेक्स जैसा ही रहा।

कारोबार के दौरान 10,534.55 अंक के दिवस के निचले और 10,747.50 अंक के उच्चतम स्तर से होता हुआ यह गत दिवस के मुकाबले 66.35 अंक यानी 0.62 प्रतिशत की गिरावट में 10,729.85 अंक पर रहा। निफ्टी की 50 में से 36 कंपनियां हरे और शेष 14 लाल निशान में बंद हुईं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख इंदौर समेत आधा दर्जन जिलों के कलेक्टर बदले गए